scorecardresearch
 

भूमाफियाओं पर चला नोएडा अथॉरिटी का बुल्डोजर, कब्जे से छुड़ाई 2000 करोड़ रुपये की जमीनें

नोएडा अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक भूमाफियाओं से छुड़ाई गई जमीन की कीमत बाजार में करीब 2000 करोड़ रुपये है. ये नोएडा अथॉरिटी की वो जमीनें हैं, जिन पर कई साल से भूमाफियाओं का कब्जा था.

भूमाफियाओं पर नोएडा अथॉरिटी का चला बुलडोजर भूमाफियाओं पर नोएडा अथॉरिटी का चला बुलडोजर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • नोएडा अथॉरिटी ने छुड़ाई 2000 करोड़ रुपये की जमीनें
  • 321814 वर्गमीटर जमीन भूमाफियाओं के कब्जे से छुड़ाई
  • आगे भी भूमाफियाओं पर जारी रहेगा अभियान: रितु माहेश्वरी

उत्तर प्रदेश के नोएडा में भूमाफियाओं पर नोएडा अथॉरिटी का बुलडोजर चल रहा है. इसके साथ ही अथॉरिटी ने रिकॉर्ड कायम करते हुए माफियाओं के कब्जे से 3,21,814 वर्गमीटर जमीन से ज्यादा की जमीन छुड़ा ली है. जिसकी कीमत कई हजार करोड़ रुपयों में है.

नोएडा अथॉरिटी के अफसरों के मुताबिक भूमाफियाओं से छुड़ाई गई जमीन की कीमत बाजार में करीब 2000 करोड़ रुपये है. ये नोएडा अथॉरिटी की वो जमीनें हैं, जिन पर कई साल से भूमाफियाओं का कब्जा था. इन जमीनों पर भूमाफियाओं ने कहीं कॉलोनी तो कहीं पूरे के पूरे फॉर्महाउस बनाकर बेच डाले थे.

भूमाफियाओं के खिलाफ चलाए गए सघन अभियान में खसरा नंबर 391 और 401 जो कि ककराला खबासपुर में मौजूद हैं, यहां नोएडा अथॉरिटी के ओएसडी खुद शामिल थे. साथ में भारी पुलिस बल की मौजूदगी में 7 हजार एकड़ जमीन को भूमाफियाओं के कब्जे से खाली करवा लिया गया. कार्रवाई के दौरान कई अधिकारी मौजूद थे. साथ ही जहां-जहां भूमाफियाओं ने कब्जा करके निर्माण कर रखा था, उस निर्माण को धव्स्त कर दिया गया.

अभियान रहेगा जारी

दरअसल, नोएडा की तेज तर्रार सीईओ रितु माहेश्वरी ने साफ आदेश दे रखे हैं कि किसी भी हालत में नोएडा की जमीनों पर माफियाओं को कब्जा नहीं करने दिया जाएगा. सीईओ रितु माहेश्वरी का कहना है कि अथॉरिटी ने महज इस हफ्ते करीब 20 हजार स्क्वायर मीटर जमीन खाली करवाई है. जिसकी कीमत करीब 100 करोड़ रुपये से ज्यादा है. उनका कहना है कि नोएडा अथॉरिटी का भूमाफियाओं के खिलाफ अभियान भविष्य में भी जारी रहेगा.
 
उन्होने बताया कि नोएडा के अधिसूचित क्षेत्र में किसी भी प्रकार का निर्माण नोएडा प्राधिकरण की अनुमति के बिना नहीं हो सकता है. ऐसे में नोएडा प्राधिकरण के अधिसूचित क्षेत्र में हो रहे अनाधिकृत और अवैध निर्माण प्राधिकरण ने कार्रवाई करते हुए जमीन को कब्जा मुक्त कराया है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें