scorecardresearch
 

यमुना एक्सप्रेस-वे पर बिना हेलमेट के अब टू व्हीलर की नो एंट्री

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से जारी आदेश के अनुसार, एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने की कोशिश की जा रही है. जिसके मद्देनजर अब यह फैसला किया गया है कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर बिना हेलमेट के किसी भी दो पहिया वाहन चालक को प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसों की रोकथाम के लिए कदम यमुना एक्सप्रेस-वे पर हादसों की रोकथाम के लिए कदम

यमुना एक्सप्रेस-वे पर बिना हेलमेट के दो पहिया वाहन चलावे वालों के प्रवेश पर रोक लगा दी गई है. बढ़ते सड़क हादसों की वजह से यह आदेश जारी किया गया है.

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी की ओर से जारी आदेश के अनुसार, एक्सप्रेस-वे पर सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता करने की कोशिश की जा रही है. जिसके मद्देनजर अब यह फैसला किया गया है कि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर बिना हेलमेट के किसी भी दो पहिया वाहन चालक को प्रवेश नहीं दिया जाएगा.

noida_071519061450.jpg

बता दें कि बीते दिनों इंटरनेशनल रोड फेडरेशन ने यमुना एक्सप्रेस-वे पर हो रहे हादसों को लेकर चिंता भी जताई थी. फेडरेशन ने कहा था कि इस एक्सप्रेस-वे का डिजाइन दूसरे हाइवे से अलग है, लिहाजा इस पर चलने वाले वाहन चालकों को पहले जागरूक किया जाना चाहिए. इसके लिए ओवर स्पीड से बचने और कुछ अन्य तरह के सुझाव दिए गए थे.

गौरतलब है कि इससे पहले आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर लगातार बढ़ते सड़क हादसों के बाद ई-चालान करने का फैसला लिया गया था. जिसके तहत आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर निर्धारित सीमा से ज्यादा रफ्तार से गाड़ी चलाने पर ई-चालान की व्यवस्था लागू की गई थी.

उत्तर प्रदेश एक्सप्रेसवे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी ने आगरा और लखनऊ दोनों टोल प्लाजा पर एक व्यवस्था की, जिसके तहत अगर कोई वाहन आगरा से लखनऊ या लखनऊ से आगरा तक की दूरी 3 घंटे से कम समय में तय करेगा तो उसका चालान किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें