scorecardresearch
 

आजम खान की मुश्किल बढ़ी, जमीन कब्जाने के मामले में 8 और शिकायतें दर्ज

किसानों की जमीन कब्जाने के मामले में आजम खान के खिलाफ 26 मुकदमें पहले ही दायर हो चुके हैं. वहीं इस मामले में रामपुर पुलिस ने बुधवार को जज के सामने उन किसानों के बयान दर्ज करवाए, जिनकी जमीन जौहर यूनिवर्सिटी बनाने के लिए कब्जाई गई.

सपा नेताआजम खान (फाइल फोटो) सपा नेताआजम खान (फाइल फोटो)

किसानों की जमीन कब्जाने के मामले में समाजवादी पार्टी (सपा) के सांसद आजम खान और उनके करीबियों के खिलाफ आठ और नई शिकायतें दर्ज हुई हैं. पुलिस सभी मामलों की जांच कर रही है.

किसानों की जमीन कब्जाने के मामले में आजम खान के खिलाफ 26 मुकदमा पहले ही दायर हो चुका है. वहीं इस मामले में रामपुर पुलिस ने बुधवार को जज के सामने उन किसानों के बयान दर्ज करवाए, जिनकी जमीन जौहर यूनिवर्सिटी बनाने के लिए कब्जाई गई. किसानों के बयान आज (गुरुवार) भी जज के सामने दर्ज कराए जाएंगे.

बता दें कि जौहर विश्वविद्यालय के लिए किसानों की जमीन कब्जाने के आरोप में फंसे आजम खां को प्रशासन ने भू-माफिया घोषित कर दिया गया है. जमीन कब्जाने के मामले में पीड़ित किसानों में से कुछ किसानों के परिवारवालों ने बीते रविवार को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल से न्याय की गुहार लगाई थी.

वहीं राज्यपाल राम नाईक ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार को पत्र लिखकर कहा था कि रामपुर की जौहर यूनिवर्सिटी का अधिग्रहण किया जाए. उन्होंने इस पत्र में लिखा है कि उनसे उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अल्पसंख्यक विभाग के उपाध्यक्ष फैसल खान यूनिवर्सिटी में कई अनियमितताओं की शिकायत कर चुके हैं.

आजम खान के खिलाफ पहले से जो जमीन कब्जाने के 26 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं, उनमें से एक मुकदमा 12 जुलाई को प्रशासन की ओर से दर्ज कराया गया था, जिसमें कहा गया था कि आलिया गंज के 26 किसानों ने जमीन कब्जाने का आरोप लगाया है. किसानों ने जिला अधिकारी को शपथ पत्र के साथ शिकायत दर्ज कराई थी कि आजम खान ने उनकी जमीन जबरन जौहर यूनिवर्सिटी में मिला ली है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें