scorecardresearch
 

मुलायम हैं मुसलमानों के दुश्मन नंबर 1: बेनी प्रसाद वर्मा

केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा ने एक बार फिर मुलायम पर तीखे तीर चलाए हैं. इस बार बेनी प्रसाद वर्मा ने मुलायम सिंह को मुसलमानों का सबसे बड़ा दुश्मन बता दिया है.

दोस्त अगर दुश्मन बन जाए तो दुश्मनी भी दोस्ती जितनी ही गहरी हो जाती है. केंद्रीय इस्पात मंत्री बेनी प्रसाद वर्मा और समाजवादी प्रमुख मुलायम सिंह यादव पद ये बात सटीक बैठती है. इसीलिए तो जब भी बेनी प्रसाद वर्मा को मौका मिलता है, मुलायम पर हमला बोल देते हैं. अब बेनी प्रसाद ने बिना नाम लिए मुलायम यादव को मुसलमानों का सबसे बड़े दुश्मन बता दि‍या है.

बेनी प्रसाद वर्मा ने कहा, ‘पिछले बीस सालों की राजनीति में अगर मुसलमानों का सबसे बड़ा कोई दुश्मन पैदा हुआ तो वह है, जो 30 अक्टूबर 1990 को प्रदेश का मुख्यमंत्री था.’

पढ़ें: 'बड़बोले' बेनी को 'चुप' रहने की हि‍दायत

साल 1990 में यूपी के मुख्यमंत्री थे मुलायम सिंह यादव और उसी साल आडवाणी ने रथ यात्रा शुरू की थी. इसके दो साल बाद बाबरी कांड हुआ था. मुलायम ने हाल ही में आडवाणी की तारीफ भी की है, जो कांग्रेस के लिए सिरदर्द है. लिहाजा बेनी बाबू को मिल गया मौका. आडवाणी को लेकर दिए मुलायम सिंह के बयान को ही मुद्दा बनाया और चला दिया तीर.

इशारों-इशारों में बेनी बाबू ने बता दिया कि आडवाणी और मुलायम की आपस में सांठगांठ है. उन्होंने कहा, ‘उनके पिता जी क्या बोल रहे हैं, अखिलेश तुम्हारी सरकार भ्रष्ट है आडवाणी जी ने भी मुझसे कहा कि वो झूठ नहीं बोलते. ये इकबाल-ए- जुर्म है. अभी बहुत से ऐसे राज हैं जो हम जानते हैं. एक-एक बता देंगे. लेकिन आज नहीं बतायेंगे.’

पढ़ें: 'गुंडे हैं मुलायम, आतंकि‍यों से रि‍श्ते'

बेनी प्रसाद वर्मा गोंडा के एक कार्यक्रम में बोल रहे थे. कार्यक्रम अंबेडकर जयंती पर था. लेकिन बेनी बाबू तो जैसे मुलायम पर वार करने का मौका तलाश रहे थे. भीड़ कम दिखी तो उसका ही बहाना बना लिया और कहा कि भीड़ कम है वरना मैं बाबरी कांड का सच बताता. फिर भी जो कहना था, वह तो बेनी बाबू ने कह ही दि‍या.

बेनी प्रसाद वर्मा ने कहा कि‍ जिस दिन बड़ी भीड़ होगी, वे बाबरी का सच बताएंगे. आडवाणी और तत्कालीन मुख्यमंत्री के बीच जो कड़ी है उसको बताएंगे, जो शिलान्यास के लिए रथ निकला था अक्टूबर 1990 में तत्कालीन मुख्यमंत्री की राय से निकला था.

आडवाणी और मुलायम में सांठगांठ का बेनी बाबू ने बम फोड़ा है. पर ये बम मुलायम पर कितना सख्त साबित होगा, इसका पता समाजवादी पार्टी के पलटवार से ही चलेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें