scorecardresearch
 

यूपी के मुरादाबाद में वार्ड बॉय की मौत, 24 घंटे पहले लगवाया था कोरोना का टीका

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध मौत हो जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया है. जिला अस्पताल में वार्ड बॉय के पद पर तैनात 48 वर्षीय महिपाल की मौत हो गई है.

कोरोना की वैक्सीन लेने वाले वार्ड बॉय की संदिग्ध मौत (फाइल फोटो-PTI) कोरोना की वैक्सीन लेने वाले वार्ड बॉय की संदिग्ध मौत (फाइल फोटो-PTI)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • यूपी के मुरादाबाद में हुई वार्ड बॉय की संदिग्ध मौत
  • 16 जनवरी को लगाई गई थी कोरोना की वैक्सीन
  • रविवार शाम को तबीयत हो गई थी ज्यादा खराब

उत्तर प्रदेश के जनपद मुरादाबाद में स्वास्थ्यकर्मी की संदिग्ध मौत हो जाने के बाद स्वास्थ्य विभाग में हडकंप मच गया है. जिला अस्पताल में वार्ड बॉय के पद पर तैनात 48 वर्षीय महिपाल की मौत हो गई है. 16 जनवरी को कोविड टीकाकरण अभियान के तहत मृतक को कोविड वैक्सीन का टीका लगाया गया था. रविवार शाम घर पर महिपाल की तबीयत बिगड़ गई थी जिसके बाद उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी.

परिजनों के अनुसार इलाज के लिए 108 को फोन करके जानकारी दी गई. लेकिन 108 आने से पहले ही तबीयत ज्यादा खराब होते देख आनन-फानन में उन्हें अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने महिपाल सिंह को मृत घोषित कर दिया. CMO मुरादाबाद ने आजतक से कहा, "वैक्सीन का कोई रिएक्शन प्रतीत नहीं होता है. मृत्यु के कारण की जांच की जा रही है. पोस्मार्टम कराएंगे. ये पहले कोरोना संक्रमित नहीं थे."

बेटा बोला- मुझे मौत का कारण टीके की वजह से लग रहा

मृतक स्वास्थ्यकर्मी के बेटे विशाल का कहना है, "मेरे पिता वार्ड बॉय के पद पर तैनात थे. आज जब ये सुबह ड्यूटी से आए थे इनकी तबीयत खराब थी. मेरे पास घर से फोन आता है कि पापा की तबीयत ज्यादा खराब है. मुझसे पहले घर वालों ने 108 पर कॉल किया लेकिन वो टाइम पर नहीं आए. मेरे पिता को कल (16 जनवरी को) वैक्सीन लगी थी."

विशाल ने आगे वैक्सीनेशन वाले दिन की बात बताते हुए कहा, "मेरे पास उनका 12:30 बजे कॉल आया कि बेटा अपनी गाड़ी ना लेकर आप ऑटो से जिला अस्पताल आ जाओ. उन्होंने कहा कि मेरा कोविड वैक्सीनेशन होगा और मुझसे आज गाड़ी नहीं चलेगी. उसके बाद मैं सिविल लाइन अस्पताल पहुंचा. कल दोपहर वहां से करीब 1:30 बजे वेक्सीनेशन होने के बाद उनको अपने साथ घर ले आया. पापा की हालत खराब थी. उनकी सांस फूल रही थी और वो खांस रहे थे."

देखें: आजतक LIVE TV

विशाल ने अपने पिता की सेहत के बारे में बताते हुए आगे कहा, "वो पहले कोरोना पॉजिटिव नहीं थे. पहले थोड़ा सा निमोनिया था. लेकिन वहां से आने के बाद इनको ज्यादा तकलीफ होने लगी थी. उसके बाद फिर पापा को गर्म पानी दिया फिर चाय बनवाई और बिस्तर में लिटाया कि आप थोड़ा आराम करो. रविवार शाम को फोन आया कि पापा की तबीयत ज्यादा खराब हो रही है आप फटाफट घर आ जाओ. अभी हमारे पास से सीएमओ हो कर गए हैं. मुझे मौत का कारण टीके की वजह से लग रहा है जो कोरोना वैक्सीन लगी है."

सीएमओ बोले- वैक्सीन का रिएकशन नहीं लगता

एक दिन पहले कोविड वैक्सीन लगने के बाद जिला अस्पताल के वार्ड बॉय महिपाल सिंह की मौत की सूचना पाने के बाद रात में ही मुरादाबाद स्वास्थ्य विभाग के मुख्य चिकित्साधिकारी एम सी गर्ग भी मृतक वार्ड बॉय के घर पहुंच गए.

मुख्य चिकित्साधिकारी का कहना है, "महिपाल सिंह हमारे जिला चिकित्सालय में वार्ड बॉय के पद पर तैनात हैं. उनकी शाम 6 बजे मृत्यु हो गई है. मृतक को दोपहर में सीने में दर्द और सांस फूलने में दिक्कत हुई थी और उसके बाद उन्हें जिला चिकित्सालय में मृत अवस्था में ले जाया गया. 16 जनवरी को इनको करीब बारह बजे कोरोना वैक्सीन दी गई थी."

सीएमओ ने आगे कहा, "आज इनको दिन में सीने में जकड़न और सांस फूलने में दिक्कत हुई थी, इनकी उम्र 46 बर्ष थी. मृत्यु के कारण की जांच की जा रही है. पोस्मार्टम कराएंगे. ये पहले कोरोना संक्रमित नहीं थे. वैक्सीन का कोई रिएक्शन प्रतीत नहीं होता है. कल रात में इन्होंने नाइट ड्यूटी भी की थी, कोई दिक्कत नहीं थी."

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें