scorecardresearch
 

मोहनलालगंज गैंगरेप: अस्पातल के गार्ड ने ही की थी हैवानगी

मोहनलालगंज के प्राइमरी स्कूल में महिला से गैंगरेप और हत्या का दरिंदा उसी अस्पताल का गार्ड निकला, जिसमें महिला नौकरी करती थी. पुलिस पूछताछ में गार्ड रामसेवक यादव ने रेप और हत्या की बात कुबूल ली है, लेकिन गैंगरेप से इनकार किया है.

X
Symbollic Image Symbollic Image

मोहनलालगंज के प्राइमरी स्कूल में महिला से गैंगरेप और हत्या का दरिंदा उसी अस्पताल का गार्ड निकला, जिसमें महिला नौकरी करती थी. पुलिस पूछताछ में गार्ड रामसेवक यादव ने रेप और हत्या की बात कुबूल ली है, लेकिन गैंगरेप से इनकार किया है.

उसका कहना है कि वारदात के दिन उसी ने महिला को फोन करके बुलाया था. इसके बाद बलसिंहखेड़ा के स्कूल में ले जाकर रेप के बाद उसकी हत्या कर दी. उसने बताया कि वारदात को उसने अकेले ही अंजाम दिया. रामसेवक बलसिंहखेड़ा का ही रहने वाला है.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक किसी चुभने वाली बात पर उसने यह दरिंदगी की. इससे पहले गैंगरेप और मर्डर की शिकार महिला की कॉल डिटेल के आधार पर पुलिस ने रामसेवक को शनिवार को हिरासत में लिया था. साथ ही बाराबंकी के अजीम, लखनऊ के महेश और पीजीआई थानाक्षेत्र निवासी प्रॉपर्टी डीलर अमित को भी हिरासत में लेकर पूछताछ की.

सूत्रों का कहना है कि एक निजी कंपनी में सिक्योरिटी गार्ड रामसेवक की युवती से अच्छी जान-पहचान थी. बाराबंकी का अजीम भी उसके घर आता-जाता था. सूत्रों के मुताबिक अजीम ही नीरज मिश्रा है. मकान मालिक के शक से बचने और युवती के घर बेरोकटोक आने-जाने के लिए अपना नाम बदला था. वह खुद को युवती का रिश्तेदार बताता था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें