scorecardresearch
 

कानपुर मुठभेड़: शहीदों के परिजनों को 1 करोड़ देगी सरकार, योगी बोले- किसी को बख्शेंगे नहीं

सीएम योगी ने शहीदों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का ऐलान किया. इसके अलावा असाधारण पेंशन भी देने की उन्होंने घोषणा की. सीएम योगी ने कहा कि शहीदों के परिजनों को आर्थिक मदद के तौर पर एक-एक करोड़ रुपये दिया जाएगा.

सीएम योगी ने की घायल पुलिसकर्मियों से मुलाकात सीएम योगी ने की घायल पुलिसकर्मियों से मुलाकात

  • सीएम योगी ने किया आर्थिक मदद का ऐलान
  • मुठभेड़ में डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिसकर्मी हुए शहीद

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर मुठभेड़ में घायल हुए पुलिसकमियों से मुलाकात की. कानपुर पहुंचे सीएम योगी ने कहा कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. उन्होंने शहीदों के परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने का ऐलान किया. इसके अलावा असाधारण पेंशन भी देने की उन्होंने घोषणा की. सीएम योगी ने कहा कि शहीदों के परिजनों को आर्थिक मदद के तौर पर एक-एक करोड़ रुपये दिया जाएगा.

यूपी के सीएम ने आगे कहा कि मुठभेड़ में दो अपराधी मारे गए हैं. जो असलहे छीनकर अपराधी भागे हैं उनमें से कुछ को रिकवर किया गया है. किसी को भी बख्शा नहीं जाएगा.

सीएम ने कहा कि जिन बहादुर जवानों ने दिन-रात में अंतर ना महसूस करते हुए कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए काम किया है उनको मैं नमन करता हूं.

ये भी पढ़ें- कुख्यात विकास दुबे ने थाने में किया था दर्जा प्राप्त मंत्री का मर्डर, जानें खूनी दास्तान

बता दें कि कानपुर में हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे को पकड़ने गई पुलिस टीम पर बदमाशों ने घेरकर गोलियां बरसा दी. इसमें डिप्टी एसपी समेत आठ पुलिसकर्मी शहीद हो गए. घटनास्थल से AK-47 के खोखे मिले हैं. करीब दो दर्जन लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है.

पुलिस टीम पर फायरिंग करने वाले बदमाशों की तलाश शुरू हो गई है. जगह-जगह छापेमारी की जा रही है. खबर है कि पुलिस ने विकास दुबे के मामा प्रेम प्रकाश पांडेय और उसके साथी अतुल दुबे को मार गिराया है. साथ ही विकास दुबे की तलाश तेज हो गई है.

ये भी पढ़ें- कानपुर मुठभेड़ के बाद एक्शनः दर्जनों लोग हिरासत में, 500 मोबाइल सर्विलांस पर

एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने कहा कि बदमाशों की फायरिंग में सात स्थानीय लोग भी घायल हुए हैं. इसके साथ ही पुलिस के कई हथियार गायब हैं. विकास दुबे ने 2001 में राजनाथ सिंह सरकार में मंत्री का दर्जा पाए संतोष शुक्ला की थाने में घुसकर हत्या की थी. उसके खिलाफ अभी भी 60 केस दर्ज हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें