scorecardresearch
 

कमलेश तिवारी हत्याकांड: पीड़ित परिवार को 15 लाख रुपये और घर देगी योगी सरकार

कमलेश तिवारी की पत्नी को 15 लाख रुपये की तत्काल वित्तीय सहायता और परिवार को महमूदाबाद में एक घर देने की घोषणा की गई है. वहीं मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाएगी.

कमलेश तिवारी के परिवार के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (ANI) कमलेश तिवारी के परिवार के साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (ANI)

  • 15 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के अलावा सीतापुर में आवास की सुविधा
  • कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उनके परिवार ने सरकार के सामने नौ मांगें रखी थीं

कमलेश तिवारी हत्याकांड मामले में पत्नी को 15 लाख रुपये की आर्थिक मदद दी गई है. वहीं परिवार को आवास दिया जाएगा. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कमलेश तिवारी की पत्नी को 15 लाख रुपये की तत्काल वित्तीय सहायता और परिवार को महमूदाबाद (सीतापुर) में एक घर देने की घोषणा की है. वहीं मामले की सुनवाई फास्ट ट्रैक कोर्ट में की जाएगी.

मुख्यमंत्री की ओर से जारी निर्देश में कहा गया है कि उनकी पत्नी को 15 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के अलावा सीतापुर में आवास की सुविधा जाएगी. साथ ही गिरफ्तार हत्यारों के खिलाफ फास्ट ट्रैक कोर्ट में प्रभावी सुनवाई व साजिश में शामिल अभियुक्तों के खिलाफ मुकदमा चलाए जाने को भी कहा है. वहीं कमलेश तिवारी की पत्नी को 15 लाख रुपये का चैक सौंप दिया गया है.

आपको बता दें कि कमलेश तिवारी की हत्या के बाद उनके परिवार ने सरकार के सामने नौ मांगें रखी थीं. उन्हीं के तहत सरकार की तरफ से आर्थिक मदद जारी की गई है. कमलेश तिवारी की 18 अक्टूबर को उनके आवास में दिनदहाड़े हत्या कर दी गई थी. हत्यारों ने कमलेश तिवारी के बाएं जबड़े पर गोली मारने के बाद उनका गला रेत दिया था. गोली पीठ में जाकर फंस गई थी. उनके शरीर के ऊपरी हिस्से में चाकू के 13 घाव पाए गए. हत्यारे घटना को अंजाम देकर फरार हो गए थे. मंगलवार को दोनों हत्यारों को गिरफ्तार कर लिया गया.

कमलेश तिवारी की हत्या के मुख्य आरोपित अशफाक शेख और मोईनुद्दीन पठान को राजस्थान की सीमा पर शमलाजी के पास से गुजरात एटीएस ने गिरफ्तार कर लिया है. दोनों आरोपितों को लखनऊ लाने के लिए यूपी पुलिस की चार सदस्यीय टीम गुजरात पहुंची है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें