scorecardresearch
 

UP Election: अयोध्या में सियासी संघर्ष, सपा और बीजेपी समर्थकों में टकराव, फायरिंग और पथराव

UP Election 2022: अयोध्या के गोसाईगंज में बीजेपी और सपा समर्थकों के बीच शुक्रवार देर रात जमकर संघर्ष हुआ. इस उपद्रव में सपा के बाहुबली नेता अभय सिंह और बीजेपी प्रत्याशी आरती तिवारी के काफिले पर कथित तौर पर पथराव और गोलीबारी की गई.

X
BJP-SP समर्थकों के बीच फायरिंग और पथराव.
BJP-SP समर्थकों के बीच फायरिंग और पथराव.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • गोसाईगंज सीट पर दो बाहुबलियों के बीच छिड़ी हैं जंग
  • जेल में बंद खब्बू तिवारी की पत्नी आरती और अभय सिंह के बीच लड़ाई

उत्तर प्रदेश में अयोध्या जिले की गोसाईगंज विधानसभा सीट से सपा प्रत्याशी अभय सिंह और बीजेपी उम्मीदवार आरती तिवारी के समर्थकों में शुक्रवार देर रात जमकर भिड़ंत हुई. दोनों पक्षों ने एक दूसरे पर पथराव और फायरिंग का आरोप लगाया है. पुलिस ने मौके पर पहुंच सुरक्षा व्यवस्था संभाल ली है और केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है. 

महाराजगंज थाना इलाके के कबीरपुर चौराहे के पास दोनों पक्षों के समर्थकों की गाड़ियां आमने-सामने होने के बाद यह विवाद शुरू हुआ था. दोनों ही दलों ने एक दूसरे पर पथराव और फायरिंग का आरोप लगाया है. 

सपा के प्रत्याशी अभय सिंह का आरोप है कि बीजेपी समर्थकों ने उनके काफिले पर पत्थर बरसाए और फायरिंग की. उधर, दूसरे पक्ष का आरोप है कि भाजपा प्रत्याशी आरती तिवारी के लिए प्रचार कर रहे विकास सिंह के काफिले पर गोलीबारी की गई. आरोप है कि फायरिंग सपा के उम्मीदवार अभय सिंह खुद कर रहे थे. इस मामले में दोनों ही गुटों की ओर से महाराजगंज थाने में एफआईआर के लिए तहरीर दी गई है.

कोई ज्यादा चोटें नहीं आईं

अयोध्या एसएसपी  शैलेश पांडे का कहना है कि इस झड़प में दोनों पक्षों में से कोई ज्यादा चोटिल नहीं हुआ है. गाड़ियों के शीशे जरूर टूटे हैं. जांच की जा रही है कि यह गाड़ियां पत्थरबाजी में टूटी हैं या खुद ही तोड़ कर पेश बंदी की जा रही है. मौके पर शांति व्यवस्था है. दोनों पक्षों की तहरीर पर अभियोग पंजीकृत करके इसमें जो भी दोषी पाए जाएंगे, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई सुनिश्चित कराई जाएगी. 

राजनीतिक प्रतिद्वंदी हैं खब्बू तिवारी और अभय सिंह

- पूर्व विधायक और बाहुबली नेता अभय सिंह को गोसाईगंज विधानसभा सीट से सपा ने तीसरी बार उम्मीदवार बनाया है. यूपी विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में उनका सामना बीजेपी उम्मीदवार आरती तिवारी से है, जो जेल में बंद बीजेपी के पूर्व विधायक इंद्र प्रताप तिवारी उर्फ खब्बू की पत्नी हैं.

बता दें कि गोसाईगंज विधानसभा सीट के लिए पहली दफे साल 2012 में चुनाव हुआ था. इस चुनाव में समाजवादी पार्टी (सपा) से अभय सिंह विधायक निर्वाचित हुए थे. तब बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के टिकट पर उतरे इंद्र प्रताप उर्फ खब्बू तिवारी दूसरे स्थान पर रहे थे.  

इसके बाद साल 2017 के विधानसभा चुनाव में भी सपा ने अभय सिंह को ही उम्मीदवार बनाया था. अभय सिंह के सामने इस बार भी इंद्र प्रताप उर्फ खब्बू तिवारी थे. खब्बू तिवारी 2017 के चुनाव में बसपा नहीं, बल्कि भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के टिकट पर चुनाव मैदान में उतरे थे और उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी सपा के अभय सिंह को 11620 वोट से हरा दिया था.

वहीं, एक बार फिर दोनों प्रतिद्वंदी आमने-सामने हैं. हालांकि, इस चुनाव में पूर्व विधायक खब्बू की जगह उनकी धर्मपत्नी आरती तिवारी मैदान में हैं. बता दें कि बाहुबली खब्बू तिवारी जेल में बंद हैं. पिछले साल एमपी एमएलए कोर्ट ने उनको फर्जी मार्कशीट मामले में 5 साल की सजा सुनाई थी. इसके बाद तिवारी की विधानसभा की सदस्यता रद्द कर दी गई थी.  

पथराव और फायरिंग में क्षतिग्रस्त हुई गाड़ी.

उल्लेखनीय है कि गोसाईगंज समेत अयोध्या जिले में यूपी विधानसभा चुनाव के पांचवें चरण में 27 फरवरी को वोट डाले जाएंगे. विदित हो कि यूपी में 7 चरणों में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसमें से दो चरण पर मतदान हो चुका है. अबब पांच चरण बाकी हैं. वहीं, 10 मार्च को सभी चरणों के चुनावी नतीजे एक साथ जारी किए जाएंगे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें