scorecardresearch
 

BRD अस्पताल के निलंबित प्रिंसिपल बोले- सारी गलती गैस सप्लायर कंपनी की, मैं निर्दोष

राजीव मिश्रा ने कहा कि सरकार को जो कार्रवाई करनी थी वह की, लेकिन इस मामले में मेरा कोई कसूर नहीं है. राजीव मिश्रा ने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स के साथ 8 साल कॉन्ट्रेक्ट था और उन्हें गैस की सप्लाई करनी चाहिए थी.

X
प्रिसिंपल ने कहा जांच में सच सामने आएगा  प्रिसिंपल ने कहा जांच में सच सामने आएगा

गोरखपुर के बीआरडी अस्पताल में बच्चों की मौत का सिलसिला जारी है. दिमागी बुखार की वजह से रविवार को भी 4 साल के एक बच्चे की मौत हो गई. पिछले 3 दिन में ही मौत का आंकड़ा 68 पहुंच गया है. अस्पलाल के प्रिसिंपल राजीव मिश्रा को शनिवार को सस्पेंड कर दिया गया था उन्होंने 'आजतक' से खास बातचीत में कहा है कि वह बेकसूर हैं और सारा दोष ऑक्सीजन सप्लायर कंपनी का है.

शनिवार को सूबे के स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थ सिंह ने बीआरडी अस्पताल के प्रिसिंपल को गैर जिम्मेदाराना रवैये के लिए सस्पेंड कर दिया था. उनका कहना हैं कि सरकार को जो कार्रवाई करनी थी वह की, लेकिन इस मामले में मेरा कोई कसूर नहीं है. राजीव मिश्रा ने कहा कि ऑक्सीजन सप्लाई करने वाली कंपनी पुष्पा सेल्स के साथ 8 साल कॉन्ट्रेक्ट था और उन्हें गैस की सप्लाई करनी चाहिए थी.

ऑक्सीजन सप्लायर कंपनी को दोषी ठहराते हुए राजीव मिश्रा ने कहा कि अगर सीएम योगी आदित्यनाथ इस मामले की ठीक से जांच करेंगे तो उन्हें सच पता चलेगी कि मेरी कोई गलती नहीं है. मिश्रा ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्री ने शनिवार को जो बयान दिया था वह ठीक है. अस्पताल में अगस्त के माह में ज्यादा मौतें होती हैं.

गैस सप्लाई करने वाले कंपनी के आरोपों को नकारते हुए मिश्रा ने कहा कि कमीशन का आरोप सरासर गलत है. कंपनी की ओर से आरोप लगाया गया था कि अस्पताल के प्रिसिंपल की ओर से कमीशन की मांग की गई थी और कमीशन ना देने पर गैस कंपनी ने भुगतान में देरी का आरोप लगाया था.  

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें