scorecardresearch
 

कोयला लेकर गाजियाबाद की ओर जा रही मालगाड़ी के 12 डिब्बे पलटे, इटावा में फ्रेट कॉरिडोर पर हुआ हादसा

बिजली संकट के बीच कोयला लेकर गाजियाबाद की ओर जा रही मालगाड़ी डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर हादसे का शिकार हो गई. इटावा में हुए इस हादसे में मालगाड़ी के कोयला लदे 12 रैक पटरी से उतर गए.

X
पलटे कोयला लदे रैक पलटे कोयला लदे रैक
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पटरी से उतरने के बाद एक-दूसरे से टकराए रैक
  • कई रैक बीच से फटे, मौके पर बिखरा कोयला

देश के कई राज्यों में कोयले की कमी के कारण बिजली का संकट उत्पन्न हो गया है. थर्मल पावर प्लांट्स पर कोयले की भरपूर उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए एक तरफ सरकार जहां कई कदम उठा रही है तो वहीं दूसरी तरफ एक मालगाड़ी के कोयला लदे 12 डिब्बे पलट गए हैं. ये दुर्घटना इटावा जिले में डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर पर हुई है.

ये भी पढ़ें- 165 थर्मल पावर प्लांट्स में से 56 में 10 फीसदी कोयला बचा, गर्मी के चलते और बढ़ सकता है संकट

बताया जाता है कि कोयला लदी मालगाड़ी कोयला लेकर कानपुर की ओर से गाजियाबाद की ओर जा रही थी. इटावा जिले में फ्रेट कॉरिडोर पर इस मालगाड़ी के करीब 12 रैक पटरी से उतरकर पलट गए. इनमें कोयला लदा था.

बिखरा कोयला
बिखरा कोयला

एक दर्जन के करीब रैक पलटने के बाद हर तरफ कोयला बिखर गया. रेलवे ट्रैक क्षतिग्रस्त हो गया है. हादसे की सूचना पाकर रेलवे के अधिकारियों के साथ ही पुलिस-प्रशासन के अधिकारी भी मौके पर पहुंच गए. ये हादसा न्यू इकदिल रेलवे स्टेशन के पास लगे ओएचई पोल 615/21 से 615/27 के बीच का है.

एक-दूसरे से टकराए रैक
एक-दूसरे से टकराए रैक

इस हादसे में दो पोल भी टूट कर गिर गए हैं. दुर्घटना इतनी जबरदस्त थी कि कोयले के रैक बीच से फट गए हैं. मौके पर पहुंचे अपर पुलिस अधीक्षक ग्रामीण सत्यपाल सिंह ने बताया कि सुरक्षा के लिहाज से पुलिस फोर्स तैनात कर दिया गया है. रेलवे के परियोजना अधिकारी पंकज सिंह ने बताया कि ओएचपी लाइन क्षतिग्रस्त हुई है.

बेपटरी हुए कितने रैक, नहीं हो सकी है सही गिनती
बेपटरी हुए कितने रैक, नहीं हो सकी है सही गिनती

हादसे के संबंध में शीर्ष अधिकारियों को जानकारी दे दी गई है. उन्होंने एक सवाल पर कहा कि ये ट्रैक कब तक ठीक हो पाएगा, कह पाना मुश्किल है. वहीं, हादसे को लेकर इटावा की जिलाधिकारी श्रुति सिंह ने कहा है कि इस हादसे में 12 से अधिक रैक क्षतिग्रस्त हुए हैं. कितने रैक क्षतिग्रस्त हुए हैं, अभी सही गिनती नहीं हो पा रही है.

(रिपोर्ट- अमित तिवारी)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें