scorecardresearch
 

गोंडा फायरिंग केस में ट्विस्ट, मंदिर के पुजारी ने ही कराया था खुद पर हमला

एसपी गोंडा शैलेश कुमार पांडे ने बताया कि मंदिर के मुख्य महंत सीताराम दास ने मौजूदा ग्राम प्रधान विनय सिंह और उनके दो बेटों के साथ मिलकर अपने विरोधियों को फंसाने की साजिश में पुजारी पर हमला कराया था.

इस कांड में घायल पुजारी भी शामिल है (फाइल फोटो) इस कांड में घायल पुजारी भी शामिल है (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • मंदिर के मुख्य महंत सीताराम दास गिरफ्तार
  • केस में अब तक 7 लोग पुलिस की गिरफ्त में
  • वारदात में इस्तेमाल हथियार भी बरामद हुआ

यूपी के गोंडा में 10/11 अक्टूबर को राम जानकी मंदिर के पुजारी पर जानलेवा हमले के मामले में पुलिस ने मंदिर के मुख्य महंत सीताराम दास समेत 7  लोगों को गिरफ्तार किया है. इस मामले में अभी एक शख्स फरार है. इस साजिश में घायल पुजारी भी शामिल है.  

एसपी गोंडा शैलेश कुमार पांडे ने बताया कि मंदिर के मुख्य महंत सीताराम दास ने मौजूदा ग्राम प्रधान विनय सिंह और उनके दो बेटों के साथ मिलकर अपने विरोधियों को फंसाने की साजिश में पुजारी पर हमला कराया था. एसपी ने बताया कि घटना में इस्तेमाल हथियार भी बरामद कर लिया गया है.

इस कांड में प्रधानी का चुनाव भी एक बड़ा कारण बताया जा रहा है. पुजारी हमला कांड में पूर्व प्रधान अमर सिंह समेत 4 लोगों के खिलाफ नामजद मुकदमा थाना इटियाथोक में दर्ज हुआ था, जिसमें से दो नामजद आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था. उनका आरोप था कि राम जानकी मंदिर के पास करीब 150 बीघा कीमती जमीन है. अमर सिंह उस जमीन पर कब्ज़ा करना चाहता है. 

बता दें कि यूपी के गोंडा में राम जानकी मंदिर के पुजारी सम्राट दास पर 10/11 अक्टूबर की रात को हमला हुआ था. उन्हें गोली मारी गई थी. यह घटना इटियाथोक थाना के तहत तिर्रे मनोरमा में हुई थी. बताया गया था कि पुजारी पर जमीन विवाद को लेकर पहले भी हमले हुए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें