scorecardresearch
 

UP: पूर्व IPS अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन का ड्राइविंग लाइसेंस निकला फर्जी!

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर 2002 में आगरा में तैनाती के दौरान अपनी पत्नी नूतन ठाकुर का लाइसेंस बनवाया था. जब वह रिन्यूवल कराने पहुंचीं तो उनका ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पाया गया.

X
पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर (फाइल फोटो) पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर और उनकी पत्नी नूतन ठाकुर (फाइल फोटो)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • आगरा में पोस्टिंग के दौरान बना था लाइसेंस
  • रिन्यूवल कराने पहुंचे तो निकला फर्जी

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की पत्नी नूतन ठाकुर ड्राइविंग लाइसेंस फर्जी पाया गया है, जिसकी जानकारी तब हुई जब वह खुद रिनिवल के लिए लखनऊ आरटीओ ऑफिस पहुंचीं. हालांकि लाइसेंस पहले आगरा में पोस्टिंग के द्वारा बनवाया गया था. अब पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर आरटीओ के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग करेंगे.

जानकारी के मुताबिक, पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर 2002 में आगरा में तैनाती के दौरान अपनी पत्नी नूतन ठाकुर का लाइसेंस बनवाया था. 3 जून को अवधि समाप्त हो गई. इसके बाद नवीनीकरण कराने के लिए लाइसेंस नंबर 117/ AG/06 के लिए जानकारी की तो पाया कि इस नंबर पर किसी और लाइसेंस मौजूद है और यह फर्जी है.

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर के मुताबिक, ड्राइविंग लाइसेंस आगरा से बनवाया गया था. उस दौरान आरटीओ की लापरवाही की वजह से फर्जी लाइसेंस दे दिया गया, हमें उस वक्त इसके बारे में जानकारी हुई जब हम इसका रिन्यूवल कराने पहुंचे, हमने आरटीओ आगरा के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर कार्रवाई की मांग करेंगे.

इस मामले में एआरटीओ प्रशासन केके सिंह के मुताबिक,  पूरे मामले की जांच कराई जाएगी, जो भी दोषी होंगे, उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी. गौरतलब है कि 7 महीने तक जेल में रहने के बाद इस साल मार्च में पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर को जमानत मिली थी. जमानत मिलने के बाद लखनऊ जेल ने उन्हें पैसा वापसी का नोटिस भेजा था.

जेल में रहने के दौरान अमिताभ ठाकुर को खर्चे के लिए मिली रकम और जेल से छूटने के बाद बाकी रकम के भुगतान में अमिताभ ठाकुर को जेल प्रशासन ने ₹400 ज्यादा दे दिए थे, अब उसी ₹400 को लखनऊ जेल प्रशासन वापस मांग रहा था.

 

TOPICS:
आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें