scorecardresearch
 

यूपी में बढ़ते अपराध पर बोले अखिलेश- अपराधी नहीं, बीजेपी सरकार ही गायब हो गई

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की जनता को सुरक्षा नहीं मिल रही है. बीजेपी ने उत्तर प्रदेश को अपराधों की शरणस्थली बना दिया है. समाजवादी सरकार ने राज्य को विकास और शांति-व्यवस्था के मामलों में जिस ऊंचाई पर पहुंचा दिया था बीजेपी ने उसको रसातल की ओर धक्का दे दिया है.

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फाइल-पीटीआई) पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (फाइल-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश बोले- बीजेपी ने उत्तर प्रदेश को अपराधों की शरणस्थली बना दिया
  • बीजेपी की द्वेषपूर्ण राजनीति से प्रदेश में हिंसा बढ़ रही: अखिलेश
  • 'बीजेपी ने जितना अहित किया उतना किसी दूसरी सरकार में नहीं हुआ'

समाजवादी पार्टी (एसपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश में लगातार बढ़ रहे अपराध को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश में अपराधी नहीं, बीजेपी सरकार ही कहीं गायब हो गई है. कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त हो चुकी है.

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की जनता को सुरक्षा नहीं मिल रही है. बीजेपी ने उत्तर प्रदेश को अपराधों की शरणस्थली बना दिया है. समाजवादी सरकार ने राज्य को विकास और शांति-व्यवस्था के मामलों में जिस ऊंचाई पर पहुंचा दिया था बीजेपी ने उसको रसातल की ओर धक्का दे दिया है.

'अपराधों की शरणस्थली बना प्रदेश'
उन्होंने कहा, 'हालात इतने बिगड़ चुके हैं कि फर्रूखाबाद के बीजेपी सांसद कह रहे हैं कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से जिस अधिकारी की शिकायत करो उसी को जांच मिल जाती है. गोरखपुर के विधायक को विधायक होने पर शर्म लगने लगी है. कई विधायक अपनी मायूसी की व्यथा सुनाते रहते हैं.'

प्रदेश में बढ़ती हिंसा पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि बीजेपी की द्वेषपूर्ण राजनीति से प्रदेश में हिंसा को बल मिल रहा है. मुख्यमंत्री के वीवीआईपी जिले गोरखपुर में दिनदहाड़े डबल मर्डर हो गया. बलिया में पत्रकार रतन सिंह को अपराधियों ने गोलियों से भून डाला. इनके दो पुत्र हैं. बीजेपी राज में इसके पूर्व भी कई पत्रकारों की कर्तव्यपालन के दौरान हत्याएं हुई हैं.

इसे भी पढ़ें --- क्या है बीजेपी-फेसबुक विवाद जिसपर गर्मा गई है देश की सियासत

बढ़ते अपराधों का जिक्र करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि आजमगढ़ में बीडीसी सदस्य की गोली मारकर हत्या हुई. सुल्तानपुर में आबकारी सिपाही को गोली मारी गई. बाराबंकी में युवक की धारदार हथियार से हत्या की गई. गाजियाबाद में युवक को 6 गोलियां मारी गई. फैजाबाद में बीजेपी नेता की हत्या हुई. लखीमपुर में स्कॉलरशिप फार्म भरने गई 18 साल की लड़की की रेप के बाद हत्या कर दी गई. इसी तरह से अन्य जगहों पर भी अपराध हुए.

'उपलब्धि के नाम पर बर्बादी ही मिली'
उन्होंने कहा कि राजधानी लखनऊ भी अपराध नगरी बनती जा रही है. आए दिन यहां आपराधिक घटनाएं घटती रहती हैं. कबीरमठ के अंदर प्रशासनिक अधिकारी को सुबह करीब 9 बजे सोमवार को गोली मारी गई. दो दिन पहले बंथरा में प्रेमी के संग निकली युवती का शव पेड़ से लटका मिला. सीतापुर रोड पर एक युवती के अपहरण का प्रयास हुआ. चिनहट के मटियारी क्षेत्र में दो भाइयों ने तीसरे भाई की हत्या कर दी. दुबग्गा में एक कालोनी में पड़ोसी युवक ने मजदूर की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म किया.

इसे भी पढ़ें --- कानपुर: संजीत यादव किडनैपिंग-मर्डर केस की होगी CBI जांच, सरकार का फैसला

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश ने बीजेपी राज में बढ़े अपराध पर कहा कि बीजेपी ने अपने काले कारनामों से उत्तर प्रदेश के सम्मान को गहरी ठेस पहुंचाई है. साढ़े तीन वर्षों में बीजेपी सरकार की उपलब्धि के नाम पर बर्बादी ही उत्तर प्रदेश को मिली है. यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि बीजेपी ने उत्तर प्रदेश का जितना अहित किया उतना किसी दूसरी सरकार में नहीं हुआ.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें