scorecardresearch
 

ढाई महीने बाद वाराणसी पुल हादसे में कार्रवाई, 8 लोग गिरफ्तार

वाराणसी में मई में हुए पुल हादसे की जांच पड़ताल में यह पाया गया कि पुल निर्माण में कई खामियां थीं, जिसके बाद जांच अधिकारी ने इंजीनियरों से पूछताछ की और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया

X
हादसा स्थल हादसा स्थल

वाराणसी में मई महीने में पुल के गिरने के मामले में सात इंजीनियरों और एक ठेकेदार समेत आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है. इस हादसे में 15 लोगों की मौत हो गयी थी.

यूपी के पुलिस महानिदेशक ओ पी सिंह ने शनिवार को बताया कि उत्तराखंड के रुड़की स्थित सेंट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टिट्यूट के वैज्ञानिकों की सहायता से एकत्र किये गये तकनीकी सबूतों के बाद यह कार्रवाई की गई है.

उन्होंने कहा, 'जांच में यह पाया गया कि पुल निर्माण में कई खामियां थीं, जिसके बाद जांच अधिकारी ने इंजीनियरों से पूछताछ की और बाद में उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.'

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में पुल गिरने की घटना की जांच में पाया गया कि पुल निर्माण के दौरान कई स्तरों पर खामियां थीं. इस मामले में उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने भी पुल गिरने के कारणों की जांच के लिए एक कमेटी बनाई थी.

गिरफ्तार अभियुक्तों के नाम और पद

1. गेंदालाल- पूर्व मुख्य परियोजना प्रबंधक, सेतु निगम

2. हरिश्चन्द्र तिवारी-तत्कालीन मुख्य परियोजना प्रबंधक, सेतु निगम

3. कुलजस राय सूदन-तत्कालीन परियोजना प्रबंधक, सेतु निगम

4. राजेन्द्र सिंह- सहायक अभियंता सीविल

5. राम सत्या सिंह यादव- सहायक अभियंता यांत्रिक सुरक्षा

6. लाल चंद्र सिंह- अवर अभियंता सिविल

7. राजेश पाल सिंह- अवर अभियंता सिविल/सहयोगी सुरक्षा

8. साहेब हुसैन/ठेकेदार

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें