scorecardresearch
 

UP: कोरोना के डर से लोगों ने बच्चे की अर्थी को नहीं दिया कंधा, नाले के पास कब्र खोद पिता ने किया दफन

बेटे की मौत के बाद जब पिता ने कंधा देने के लिए उन्होंने पड़ोसियों से मदद मांगी तो करोना संक्रमण की डर से कोई भी व्यक्ति बेटे को कंधा देने नहीं आया. कोरोना का खौफ इस कदर था कि रिश्तेदार भी शामिल नहीं हुए. 

सांकेतिक तस्वीर सांकेतिक तस्वीर
स्टोरी हाइलाइट्स
  • पिता ने मजबूरी में नाले के पास खुद कब्र खोदी और बेटे की लाश को दफन कर दिया
  • कोरोना के डर से आस पास के लोगों ने नहीं दिया शव को कंधा

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर लोगों में भय व्याप्त है. ऐसे में कोरोना संक्रमण के डर से यहां एक बच्चे के शव को किसी ने कंधा नहीं दिया. जिसके चलते पिता ने मजबूरी में नाले के पास खुद कब्र खोदी और बेटे की लाश को दफन कर दिया. हालांकि बेटे की मौत कोरोना संक्रमण से नहीं हुई थी, लेकिन कोरोना संक्रमण के खौफ ने लोगों की संवेदनाएं भी कमजोर कर दी हैं.

जानकारी के मुताबिक लखनऊ में कोरोना संक्रमण से होने वाली मौत का आंकड़ा लगातार बढ़ रहा है. ऐसे में एक पिता के द्वारा अपने बेटे की अकेले कब्र खोदकर दफन करने वाला मामला सामने आया है. लखनऊ के चिनहट थाना क्षेत्र में रहने वाले सूरजपाल का 13 साल का बेटा 1 हफ्ते से तेज बुखार में था. उसका इलाज सूरजपाल घर पर ही दवा से कर रहे थे, लेकिन हालत बिगड़ने पर उनके बेटे की मौत हो गई. बेटे की मौत के बाद जब कंधा देने के लिए उन्होंने पड़ोसियों से मदद मांगी तो कोरोना संक्रमण की डर से कोई भी व्यक्ति बेटे को कंधा देने नहीं आया. कोरोना का खौफ इस कदर था कि रिश्तेदार भी शामिल नहीं हुए. 

ऐसी हालत में मजबूर पिता ने बेटे की लाश कंधे पर रखकर चिनहट के लौलाई उप केंद्र के पास बने नाले के पास कब्र खोदकर अपने बेटे की लाश को दफन कर दिया. पिता का रो-रो कर बुरा हाल था. लोगों में कोरोना संक्रमण का खौफ इस कदर था कि नॉन कोविड-19 बेटे की मौत पर लोग कंधा देने के लिए भी घर से बाहर नहीं निकले.

मृतक बेटे के पिता सूरजपाल के मुताबिक, बेटे की मौत बुखार से हुई थी और उसने कंधा देने के लिए लोगों से मदद मांगी. लेकिन लोग कोरोना संक्रमण के डर से कंधा देने के लिए शामिल नहीं हुए और बताते रहे कि हम क्वॉरनटीन हैं. रिश्तेदार लॉकडाउन का बहाना बनाकर शामिल नहीं हुए. उसके बाद उन्होंने खुद कंधे पर बेटे का शव ले जाकर उसको दफना दिया. उन्होंने कहा कि हमारा बेटा कोविड-19 पॉजिटिव नहीं था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें