scorecardresearch
 

यूपी: देवरिया से बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह की हार्ट अटैक से मौत, लंबे समय से थे बीमार

देवरिया सदर से बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह का निधन हो गया है. गुरुवार देर रात लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली. जन्मेजय सिंह पिछले कई महीनों से बीमार चल रहे थे, लेकिन गुरुवार की रात हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया.

बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह का निधन बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह का निधन

  • जन्मेजय सिंह तीसरी बार विधायक चुने गए थे
  • बसपा से पहली बार विधायक का चुनाव जीता

उत्तर प्रदेश में देवरिया सदर से बीजेपी विधायक जन्मेजय सिंह का निधन हो गया है. गुरुवार देर रात करीब लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में निधन हो गया. जन्मेजय सिंह पिछले कई महीनों से बीमार चल रहे थे, लेकिन गुरुवार की रात हार्ट अटैक की वजह से निधन हो गया है. जन्मेजय के निधन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से लेकर सपा प्रमुख अखिलेश यादव तक ने शोक संवेदना जतायी है.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बीजेपी विधायक के निधन पर दुख जताया है. सीएम ने ट्वीय कर कहा कि देवरिया सदर विधान सभा क्षेत्र के विधायक जन्मेजय सिंह के आकस्मिक निधन की खबर सुनकर शोक हुआ. सिंह के निधन से पार्टी ने एक समर्पित कार्यकर्ता और जनता ने अपना सच्चा हितैषी खो दिया है. प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि उनकी आत्मा को अपने श्री चरणों मे स्थान दें. ॐ शांति.

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी जन्मेजय के निधन पर शोक जताया है. सपा प्रमुख ने ट्वीट कर कहा कि देवरिया सदर सीट से भाजपा विधायक श्री जन्मेजय सिंह जी का निधन अत्यंत दुखद! दिवंगत आत्मा को शांति एवं शोकाकुल परिवार को दुख सहन करने की शक्ति दे भगवान.

जन्मेजय सिंह का जन्म 7 जुलाई, 1945 को देवरिया में त्रिलोकीनाथ सिंह के घर हुआ था. उनकी पत्नी का नाम गुजराती देवी है और उनके 3 बेटे और 4 बेटियां हैं. जन्मेजय सिंह बीजेपी से लगातार दो बार से देवरिया सदर विधानसभा सीट विधायक थे. 2012 में बसपा प्रत्याशी प्रमोद सिंह को हराकर विधायक बने थे. इसके बाद 2017 में उन्होंने सपा के उम्मीदवार जेपी जायसवाल को बड़े अंतर से मात देकर अपनी राजनीतिक ताकत का एहसान कराया था.

हालांकि, जन्मेजय सिंह 2000 में हुए उपचुनाव में पहली बार बसपा के टिकट पर विधायक बने. बाद में 2002 में हुए आम चुनाव में सपा के शाकिर अली से हार गए थे. इसके बाद 2007 में वह बीजेपी में शामिल हो गए. इसके बाद उत्तर प्रदेश की 16वीं और 17वीं विधान सभा के सदस्य रहे. उन्होंने भारतीय जनता पार्टी के सदस्य के रूप में देवरिया निर्वाचन क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें