scorecardresearch
 

टेरर मॉड्यूलः संदिग्ध अबू बकर के भाई ने PM मोदी से की ये अपील, चाचा बोले- मेरा भतीजा निर्दोष

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को एक बड़े टेरर मॉड्यूल (Terror Module) का पर्दाफाश करते हुए 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया. इनमें से एक अबू बकर यूपी के बहराइच का रहने वाला है. अबू बकर के पकड़ में आते ही उसके छोटे भाई से भी पुलिस ने बुलाकर पूछताछ की. उसके भाई ने पीएम मोदी और पुलिस से जल्द जांच पूरी करने की अपील की है. वहीं, अबू बकर के चाचा अम्मार खां ने उसे निर्दोष बताया है.

संदिग्ध अबू बकर के भाई और चाचा. संदिग्ध अबू बकर के भाई और चाचा.
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बहराइच के कैसरगंज का रहने वाला है अबू बकर
  • उसके भाई ने जल्द जांच पूरी करने की अपील की
  • चाचा अम्मार खां ने भतीजे को निर्दोष बताया

दिल्ली पुलिस ने मंगलवार को एक बड़े टेरर मॉड्यूल (Terror Module) का पर्दाफाश करते हुए 6 संदिग्धों को गिरफ्तार कर लिया. इनमें से एक अबू बकर भी है जो यूपी के बहराइच के कैसरगंज इलाके का रहने वाला है. मंगलवार शाम को जैसे ही अबू बकर पकड़ में आया, वैसे ही कैसरगंज में भी सरगर्मी बढ़ गई. शाम को एटीएस और स्थानीय पुलिस मोहम्मद उमर को पूछताछ के लिए थाने ले आई. उस समय तक किसी को भी इस बात की भनक नहीं था कि जो संदिग्ध पकड़ा गया है, मोहम्मद उमर उसका छोटा भाई है. उमर ने दावा किया है कि उसे भी उसके भाई का नाम आतंकी लिस्ट में होने के बारे में कोई जानकारी नहीं थी. लेकिन जब वो थाने से पूछताछ के बाद घर लौटा तो टीवी के जरिए उसे पता चला कि उसके भाई को गिरफ्तार किया जा चुका है.

मोहम्मद उमर के मुताबिक उसके पिता सऊदी अरब के जेद्दाह में रहते हैं. उसने बताया कि जब उसका भाई अबू 6 साल और वो 4 साल का था तब अपने पिता के बुलाने पर सऊदी चले गए थे. वहीं उनकी पढ़ाई हुई. 2013 में दोनों भारत लौट आए और सहारनपुर स्थित देवबंद से आगे की पढ़ाई की.

उमर ने बताया कि अबू की शादी हो चुकी है और उसकी एक बेटी भी है जिसके साथ हम सब यहीं सोनारी चौराहे पर घर बनाकर रहते हैं. उसके मुताबिक उसका भाई तीन चार दिन पहले ज़मात में शामिल होने दिल्ली मरकज़ गया था. मोहम्मद उमर ने अपने भाई अबू बकर को बेकसूर बताते हुए प्रधानमंत्री मोदी (PM Modi) और दिल्ली पुलिस (Delhi Police) से अपील की कि उसके भाई की जांच जल्दी पूरी कर उसे रिहा किया जाए.

चाचा बोले- हम हिंदुस्तानी हैं...

कैसरगंज के सोनारी चौराहे पर ही कई सालों से अपना टेंट का व्यवसाय कर रहे अम्मार खां ने बताया कि अबू बकर उनका अपना भतीजा है और वो पूरी तरह निर्दोष है. उनके भाई सुन्ना खान लगभग 40 सालों से सऊदी अरब में रह रहे हैं. उन्होंने बताया कि अबू ने देवबंद से आलिम, कारी जैसी सभी डिग्रियां कम्प्लीट की हैं. अम्मार खां ने कहा कि उनके भतीजे का नाम आतंकियों में शामिल होने पर उन्हें बेहद धक्का लगा है. वो हिंदुस्तानी हैं. उन्हें अपने वतन से बेहद प्यार है. वो कहते है कि एक दिन इसी मिट्टी में मर कर चले जायेंगे. उन्होंने बताया कि उनका भतीजा अबू बकर पिछले जुमा के दिन दिल्ली गया था. 

(रिपोर्टः राम बरन चौधरी)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें