scorecardresearch
 

चिन्मयानंद के खिलाफ विरोध मार्च की इजाजत नहीं, कांग्रेस बोली-कश्मीर नहीं है UP

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सरकार का संरक्षण है कि वो बलात्कार से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें. बीजेपी सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय मांगने की आवाज को दबाना चाहती है. पदयात्रा रोकी जा रही है. हमारे कार्यकर्ताओं नेताओं को गिरफ़्तार किया जा रहा है. डर किस बात का है?

शाहजहांपुर में कांग्रेस का प्रदर्शन (फोटो-Twitter) शाहजहांपुर में कांग्रेस का प्रदर्शन (फोटो-Twitter)

  • चिन्मयानंद के खिलाफ विरोध मार्च निकालने की नहीं मिली इजाजत
  • शाहजहांपुर में जितिन प्रसाद ने कहा- ये यूपी है कश्मीर नहीं

स्वामी चिन्मयानंद पर लगे यौन उत्पीड़न के आरोपों के खिलाफ कांग्रेस को न्याय पद यात्रा निकालने की इजाजत नहीं मिली है. प्रशासन ने कांग्रेस को पदयात्रा की अनुमति देने से इनकार कर दिया है. प्रशासन ने शाहजहांपुर में उनके घर के बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. कांग्रेस कार्यालय के बाहर भी पुलिस और पीएसी तैनात कर दी गई है. फिलहाल  जितिन प्रसाद का कहना है कि सरकार उनके संवैधानिक अधिकार को दबाने की कोशिश कर रही है. कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने कहा है कि यूपी कश्मीर नहीं है, फिर भी उन्हें यहां न्याय पद यात्रा निकालने की इजाजत नहीं मिल रही है.

जितिन प्रसाद ने कहा कि उन्हें नजरबंद कर लिया गया है और उनके घर के बाहर पुलिस बल तैनात कर दिया गया है. जितिन प्रसाद ने अपने घर से एक वीडियो भी ट्विटर पर पोस्ट किया है.

प्रियंका गांधी ने भी बोला हमला

इस मामले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों को सरकार का संरक्षण है कि वो बलात्कार से पीड़ित लड़की को डरा-धमका सकें. बीजेपी सरकार शाहजहांपुर की बेटी के लिए न्याय मांगने की आवाज को दबाना चाहती है.  पदयात्रा रोकी जा रही है. हमारे कार्यकर्ताओं नेताओं को गिरफ़्तार किया जा रहा है. डर किस बात का है?

बता दें कि स्वामी चिन्मयानन्द मामले में उत्तर प्रदेश कांग्रेस सोमवार को शाहजहांपुर से लखनऊ तक पदयात्रा शुरू करने वाली थी. कांग्रेस की यह यात्रा पीड़ित छात्रा को इंसाफ दिलाने के लिए आयोजित की जा रही थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें