scorecardresearch
 

CM योगी ने गिनाए 4.5 साल के काम, अखिलेश ने बताया झूठ का फूल तो प्रियंका बोलीं- फेल रही सरकार

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को 4.5 साल का रिपोर्ट कार्ड जारी किया. इसमें उन्होंने बताया कि उनकी सरकार में यूपी में क्या-क्या हुआ है. वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसा है.

सीएम योगी आदित्यनाथ ने गिनाईं अपनी उपलब्धियां. (फाइल फोटो-PTI) सीएम योगी आदित्यनाथ ने गिनाईं अपनी उपलब्धियां. (फाइल फोटो-PTI)
4:26
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सीएम योगी ने जारी किया रिपोर्ट कार्ड
  • बताया 4.5 साल में सरकार ने क्या किया
  • पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने कसा तंज

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (CM Yogi Adityanath) ने रविवार को अपनी सरकार का रिपोर्ट कार्ड (Report Card) जारी कर दिया. इसमें उन्होंने बताया है कि उनकी सरकार ने पिछले 4.5 साल में क्या-क्या किया है. वहीं, रिपोर्ट कार्ड जारी होने के बाद प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) ने तंज कसा है.

योगी ने गिनाईं 4.5 साल की उपलब्धियांः

1. किसानों के लिए क्या किया?

- योगी सरकार का दावा है कि 86 लाख किसानों के 36,000 करोड़ का कर्ज माफ किया गया है. वहीं, गन्ना किसानों को 1.44 लाख करोड़ का भुगतान किया गया है. 435 लाख मीट्रिक टन खाद्यान्न की सरकारी खरीद की गई और किसानों को 79 हजार करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है. 

- प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2.53 करोड़ से ज्यादा किसानों को 37,388 करोड़ रुपये जारी किए गए हैं. पीएम फसल बीमा योजना के तहत 2,376 करोड़ रुपये की क्षतिपूर्ति की गई है. दावा ये भी है कि बीते 4.5 साल में किसानों को 4.72 लाख करोड़ रुपये का कर्ज दिया गया है. इसके अलावा एमएसपी दोगुनी करने का भी दावा योगी सरकार ने किया है.

2. महिलाओं के लिए क्या किया?

- दावा है कि लड़कियों को ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई का खर्चा सरकार उठा रही है. 1.67 करोड़ महिलाओं को उज्ज्वला योजना के तहत फ्री गैस कनेक्शन दिए गए. सीएम कन्या सुमंगला योजना के तहत 9.36 लाख लड़कियों को लाभ मिला. वहीं, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में 1.52 लाख से ज्यादा लड़कियों की शादी कराई गई. मुस्लिम महिलाओं को बिना महरम के हज पर जाने की सुविधा देने का दावा भी है.

- इसके अलावा प्रदेश के सभी 1,535 थानों में पहली बार महिला हेल्प डेस्क की स्थापना की गई. 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट बनाई गईं. 81 मजिस्ट्रेट और 81 अपर सेशन कोर्ट बनाई गईं. 

- बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाई योजना के तहत 1.80 करोड़ बच्चियों को लाभ मिला. करीब 56 हजार महिलाएं बैंकिंग सखी के रूप में काम कर रहीं हैं. दावा किया गया है कि 10 लाख स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से एक करोड़ महिलाओं को रोजगार दिया गया है. 

ये भी पढ़ें-- सीएम न बनने पर कसक, योगी से रिश्तों पर खटास... क्या-क्या बोले केशव मौर्य?

3. स्वास्थ्य के लिए क्या किया?

- सरकार ने दावा किया है कि 56 जिलों में कम से कम एक मेडिकल कॉलेज चल रहा है. वहीं, 16 जिलों में पीपीपी मॉडल के जरिए मेडिकल कॉलेज बनाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है. गोरखपुर और रायबरेली में एम्स का संचालन हो रहा है. 

- पीएम जन आरोग्य योजना (आयुष्मान भारत) में 6.47 करोड़ लोगों को तो मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत 42.19 लाख लोगों का बीमा कवर किया गया है. 

- वहीं, लखनऊ में अटल बिहारी वाजपेयी चिकित्सा विश्विद्यालय का निर्माण शुरू हो गया है. दावा किया गया है कि प्रदेश भर में 4,470 एंबुलेंस चल रहीं हैं. साथ ही नियमित और संविदा पर 9,512 डॉक्टरों और पैरा मेडिकल स्टाफ की भर्ती की गई है. डॉक्टरों की रिटायरमेंट की उम्र भी 60 से बढ़ाकर 62 कर दी गई है.

4. अपराध रोकने के लिए क्या किया?

- सरकार ने दावा किया है कि माफियाओं की संपत्ति पर बुल्डोजर चला दिया गया है और उनकी 1,866 करोड़ रुपये से ज्यादा की अवैध संपत्ति को जब्त कर लिया गया है. इसके अलावा 
150 अपराधी एनकाउंटर में मारे गए हैं. 3,427 अपराधी घायल हुए हैं. गैंगस्टर एक्ट में 44,759 आरोपी और रासुका के तहत 630 आरोपी गिरफ्तार हुए हैं. 11,864 इनामी अपराधियों की गिरफ्तारी की गई है.

- सरकार ने एफसीआर के आंकड़ों की तुलना करते हुए दावा किया है कि 2016 के मुकाबले 2020 में डकैती में 70.1%, लूट में 69.3%, हत्या में 29.1%, बलवा में 33.0%, रोड होल्ड अप में 100%, अपहरण में 35.3%, दहेज मृत्यु में 11.6% और बलात्कार के मामलों में 52% की कमी आई है.

- इसके अलावा लखनऊ, नोएडा, कानपुर नगर और वाराणसी में पुलिस कमिश्नरेट सिस्टम लागू किया गया है. 214 नए थाने शुरू किए गए हैं. 1.43 लाख से ज्यादा पुलिस कर्मियों की भर्ती की गई है और उनके अलावा 76,000 नॉन-गैजेटेड पुलिस कर्मियों का प्रमोशन किया गया है.

ये भी पढ़ें-- हमारे साढ़े 4 सालों में डेढ़ साल कोरोना खा गया इसलिए मुझे सिर्फ 3 साल मिला: सीएम योगी

5. ट्रांसपोर्ट इन्फ्रास्ट्रक्चर के लिए क्या किया?

- योगी सरकार का दावा है कि पहली बार प्रदेश में 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट हुए हैं. 8 एयरपोर्ट संचालित हैं, जबकि 13 अन्य एयरपोर्ट और 7 हवाई पट्टी का विकास हो रहा है. 

- इसके अलावा पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे (341 किमी), बुंदेलखंड एक्सप्रेस-वे (297 किमी), गंगा एक्सप्रेस-वे (594 किमी), गोरखपुर लिंक एक्सप्रेस-वे (91 किमी) का काम भी चल रहा है. दावा ये भी है कि नोएडा, लखनऊ, गाजियाबाद, कानपुर, आगरा, मेरठ, गोरखपुर, वाराणसी, प्रयागराज और झांसी में मेट्रो रेल प्रोजेक्ट शुरू किया गया है.

प्रियंका बोलीं- झूठ और सिर्फ झूठ

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने रिपोर्ट कार्ड पर तंज कसते हुए इसे 'झूठा' बताया है. उन्होंने ट्वीट कर लिखा, 'उत्तर प्रदेश सरकार को चाहिए था कि 4.5 सालों पर जनता के सवालों का जवाब दे, लेकिन नहीं. फिर झूठ, झूठ और सिर्फ झूठ.'

मायावती बोलीं- इनके दावे जमीनी हकीकत से दूर

बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने भी योगी सरकार के रिपोर्ट कार्ड पर हमला किया है. उन्होंने ट्वीट कर सरकार के दावों को जमीनी हकीकत से दूर बताया है.

अखिलेश बोले- झूठ का फूल

वहीं, योगी सरकार के इस रिपोर्ट पर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने तंज कसते हुए इसे झूठा बताया है. अखिलेश ने ट्वीट करते हुए लिखा, 'चौवन गुज़रे, छह महीने बचे इस दंभी सरकार के किसान, ग़रीब, महिला व युवा पर अत्याचार के बेरोज़गारी, महंगाई, नफ़रत व ठप्प कारोबार के बहकावे, फुसलावे वाली, जुमलेबाज़ सरकार के. नहीं चाहिए ऐसी सरकार, जिसका सच है: ठग का साथ, ठग का विकास, ठग का विश्वास, ठग का प्रयास.' अखिलेश ने अपने इस ट्वीट के साथ #झूठ_का_फूल का इस्तेमाल किया है. 

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×