scorecardresearch
 

जेटली के निधन पर CM योगी ने जताया शोक, मथुरा दौरा रद्द कर पहुंचे दिल्ली

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अरुण जेटली भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री रहे. संगठन ने उन्हें जो भी जिम्मेदारियां सौंपी उन्होंने कुशलता पूर्वक उसका निर्वाहन करके उसे ऊंचाइयों तक पहुंचाया.

योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो) योगी आदित्यनाथ (फाइल फोटो)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन के बाद अपना मथुरा दौरा रद्द कर दिल्ली के लिए रवाना हो गए. इससे पहले जेटली के निधन पर उन्होंने गहरा शोक व्यक्त किया.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अरुण जेटली भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व वित्त मंत्री रहे. संगठन ने उन्हें जो भी जिम्मेदारियां सौंपी उन्होंने कुशलता पूर्वक उसका निर्वाहन करके उसे ऊंचाइयों तक पहुंचाया.

सीएम योगी ने दिल्ली रवाना होने के पहले कहा कि जेटली आज हमारे बीच नहीं हैं, उनका निधन पार्टी और देश के लिए अपूरणीय क्षति है. वह उत्कृष्ट वक्ता थे, संसदीय प्रणाली के अद्भुत जानकार थे. जो भी जिम्मेदारी मिली उसका उन्होंने कुशलता पूर्वक निर्वाहन किया. वह राज्यसभा में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व करते थे इसलिए मैं प्रदेश की तरफ से अरुण जेटली जी को श्रद्धांजलि देने के लिए दिल्ली जा रहा हूं.

उन्होंने कहा कि जेटली का जाना देश और समाज की ऐसी अपूरणीय क्षति है जिसकी रिक्तता का अहसास हम लंबे समय तक करते रहेंगे. ईश्वर से प्रार्थना है कि पुण्यात्मा को वे अपने श्री चरणों में स्थान दें और परिजनों को इस अपार दुःख को सहन करने की शक्ति दें.

इससे पहले उन्होंने ट्वीट कर कहा कि देश के प्रख्यात विधिवेत्ता एवं पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली के निधन की खबर से स्तब्ध हूं. जेटली जी छात्र जीवन में ही भाजपा से जुड़े, आपातकाल के ख़िलाफ़ आवाज मुखर की एवं आजीवन सकारात्मक राजनीति के साथ मां भारती की सेवा करते रहे.

बता दें कि मथुरा में इस बार कृष्णोत्सव आयोजित किया जा रहा है और सीएम योगी आदित्यनाथ शनिवार को मथुरा दौरे पर जाने वाले थे. वो मथुरा के रामलीला मैदान में जन्माष्टमी समारोह के मुख्य आकर्षण 'दही हांडी' कार्यक्रम का उद्घाटन करने वाले थे.

योगी आदित्यनाथ शनिवार को कृष्णोत्सव-2019 का औपचारिक उद्घाटन करने वाले थे तथा जनपद के लिए प्रारम्भ एवं पूर्ण की जा रही 236 करोड़ रुपये लागत की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शुभारंभ भी करने वाले थे. इसके अलावा वो वृन्दावन पहुंच कर पर्यटन सुविधा केंद्र (टूरिस्ट फेसिलिटेशन सेण्टर) का लोकार्पण करने वाले थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें