scorecardresearch
 

मोदी के इशारे पर मीडिया मैनेजमेंट में जुटे अमित शाह

गुजरात में मीडिया मैनेजमेंट का हुनर दिखा चुके नरेंद्र मोदी के सिपहसालार और बीजेपी के उत्तर प्रदेश मामलों के प्रभारी अमित शाह ने अब यूपी में भी मोदी के इशारे पर अखबारों के दफ्तरों का चक्कर काटना शुरू कर दिया है.

गुजरात में मीडिया मैनेजमेंट का हुनर दिखा चुके नरेंद्र मोदी के सिपहसालार और बीजेपी के उत्तर प्रदेश मामलों के प्रभारी अमित शाह ने अब यूपी में भी मोदी के इशारे पर अखबारों के दफ्तरों का चक्कर काटना शुरू कर दिया है.

माना जा रहा है कि मोदी के इशारे पर ही अमित शाह मीडिया को साधने में जुटे हुए हैं. अयोध्या में होने वाली बीजेपी की महत्वपूर्ण बैठक से पहले अमित शाह ने शुक्रवार को राजधानी के कई नामी अखबारों के दफ्तरों में जाकर संपादकों से मुलाकात की. माना जा रहा है कि उनकी यह सारी कवायद मोदी के इशारे पर हो रही है, ताकि उनकी बैठकों और यूपी में पार्टी की रणनीति को लेकर सकारात्मक कवरेज हो सके.

अयोध्या में शनिवार को होने वाली बैठक से ठीक एक दिन पहले शुक्रवार दोपहर को अमित शाह राजधानी लखनऊ पहुंचे. बीजेपी सूत्रों के मुताबिक, शाह ने पहले से ही यह कार्यक्रम तय कर रखा था कि वे इस दौरे की शुरुआत चुनिंदा अखबारों के संपादकों के साथ मुलाकात से करेंगे, लिहाजा दोपहर में राजधानी पहुंचते ही वे मीडिया प्रभारी और प्रवक्ताओं की टीम के साथ लखनऊ की मीडिया को साधने निकल पड़े.

बीजेपी के नेता और कार्यकर्ता खुलकर तो कुछ नहीं बता रहे हैं, लेकिन नेताओं के मुंह से इतना जरूर निकल रहा है कि पार्टी प्रभारी होने के नाते शाह चाहे जो करें, लेकिन अखबारों के दफ्तरों का चक्कर लगाने के बजाय संगठन पर ध्यान देते तो ज्यादा बेहतर होता. बीजेपी के एक नेता ने कहा, 'अखबारों के दफ्तरों में जाकर संपादकों से मिलना, अच्छी परंपरा की शुरुआत नहीं है. इससे आम जनता के बीच गलत संदेश जाएगा. अखबारों के दफ्तर के चक्कर लगाने से पार्टी को कुछ नहीं मिलेगा. शाह को संगठन पर ध्यान देना चाहिए.'

पार्टी के कुछ पदाधिकारियों के भीतर इस बात की खुशी भी दिखाई दी कि आखिर मोदी का मीडिया मैनेजमेंट यहां भी देखने को मिल रहा है, लेकिन आने वाले समय में इसका कितना लाभ मिलेगा, इसका जवाब इन पदाधिकारियों के पास भी नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें