scorecardresearch
 

उपचुनाव नतीजे का हासिलः बीजेपी के मजबूत किले को भेद सकती है विपक्षी एकजुटता

बता दें कि जैसे ही अखिलेश यादव मायावती से मिलने के लिए निकले, बसपा सुप्रीमो के घर से एक गाड़ी उनकी अगवानी के लिए भी पहुंची. यूपी की राजनीति में इन दोनों नेताओं की मुलाकात बेहद अहम है. क्योंकि इसी मुलाकात से 2019 के लिए रास्ता निकलेगा.

X
सोनिया ने 13 मार्च को विपक्षी नेताओं को कराया डिनर सोनिया ने 13 मार्च को विपक्षी नेताओं को कराया डिनर

लोकसभा की तीन सीटों के उपचुनाव के नतीजे इस बात को रेखांकित करते हैं कि विपक्षी दलों की एकजुटता बीजेपी के मजबूत किले को भी भेद सकती है. बीजेपी के रणनीतिकार 2019 का लोकसभा चुनाव जीतने के लिये उत्तर प्रदेश और बिहार पर विशेष ध्यान दे रहे हैं और अब इन नतीजों से उनको अपनी रणनीति पर फिर से विचार करने की जरूरत पड़ सकती है.

इन तीनों सीटों पर हार की खबर आई तो बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पार्टी मुख्यालय में थे. सूत्रों का कहना है कि शाह पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ इस नतीजे की समीक्षा कर सकते हैं. बहरहाल, पार्टी ने इस हार को ज्यादा तवज्जो नहीं देने की कोशिश की और कहा कि इन चुनावों में लोगों ने स्थानीय मुद्दों पर वोट दिए हैं और केंद्र या राज्य की सरकारों की सेहत पर इसका कोई असर नहीं होने वाला है.

बीजेपी प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने भी दावा किया कि ऐसा लगता है कि मतदाता भी पराजित पार्टियों को उत्साहित करके कुछ राजनीतिक संतुलन लाना चाहते हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी पहले भी उप चुनाव हारी है, लेकिन इसके बाद लगातार विधानसभा चुनाव जीती है.

मायावती के घर पहुंचे अखिलेश यादव

गोरखपुर और फूलपुर उपचुनाव में जीत के बाद समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव बसपा सुप्रीमो मायावती के घर पहुंचे. यहां दोनों नेताओं के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात चली. मुलाकात के बाद अखिलेश या मायावती ने मीडिया से तो कुछ नहीं कहा, लेकिन इस मुलाकात के कई संदेश निकाले जा रहे हैं.

बता दें कि जैसे ही अखिलेश यादव मायावती से मिलने के लिए निकले, बसपा सुप्रीमो के घर से एक गाड़ी उनकी अगवानी के लिए भी पहुंची. यूपी की राजनीति में इन दोनों नेताओं की मुलाकात बेहद अहम है. क्योंकि इसी मुलाकात से 2019 के लिए रास्ता निकलेगा.

यूपी में सपा-बसपा के गठबंधन के बारे में जब समाजवादी पार्टी के नेता रामगोपाल वर्मा से पूछा गया, तो उन्होंने सीधे शब्दों में कहा कि इंतजार करिए. हालांकि सपा प्रमुख अखिलेश यादव का मायावती के आवास पर जाना ही सबसे बड़ा राजनीतिक संकेत है.

राहुल ने पवार से की मुलाकात, 28 को मिलेंगे ममता से

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को देर शाम राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के प्रमुख शरद पवार से मुलाकात की. यही नहीं राहुल गांधी 28 मार्च को दिल्ली में ममता बनर्जी से मिलेंगे. टीएमसी नेता ममता बनर्जी 28 मार्च को दिल्ली आ रही हैं.

मुलाकात के लिए राहुल गांधी पवार के आवास पर पहुंचे थे. दोनों नेताओं के बीच करीब डेढ़ घंटे तक मुलाकात चली. इससे पहले यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने मंगलवार को 20 विपक्षी पार्टी के नेताओं को डिनर पर बुलाया और बैठक की.

गोरखपुर-फूलपुर के साथ अररिया भी हारी बीजेपी

गोरखपुर में सपा के प्रवीण निषाद ने बीजेपी के उपेंद्र दत्त शुक्ला को 21961 वोट से हराया, यह सीट 1989 से बीजेपी के पास थी. वहीं सपा के नागेंद्र प्रताप सिंह पटेल ने फूलपुर सीट पर बीजेपी के कौशलेंद्र सिंह पटेल को 59,460 वोट से हराया.

बिहार की एक लोकसभा और दो विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव में से एक लोकसभा और एक विधानसभा सीट आरजेडी ने जीती है. जबकि एक विधानसभा सीट बीजेपी के खाते में गई है. अररिया लोकसभा सीट पर आरजेडी के उम्मीदवार सरफराज आलम ने बाजी मारी है. उन्होंने बीजेपी के प्रदीप कुमार सिंह को 61,788 मतों से हराया है.

सरफराज आलम को कुल 5,09,334 और प्रदीप कुमार सिंह को 4,47,546 वोट मिले हैं. जहानाबाद विधानसभा सीट से आरजेडी उम्मीदवार कुमार कृष्ण मोहन उर्फ सुदय यादव 35036 वोटों से जीते हैं. ये सीट उनके पिता मुंद्रिका सिंह यादव के देहांत के बाद खाली हुई थी. भभुआ विधानसभा सीट से बीजेपी के दिवंगत विधायक आनंद भूषण पांडेय की पत्नी और बीजेपी उम्मीदवार रिंकी रानी विजयी घोषित हुई हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें