scorecardresearch
 

'गांवों में उतर गए BJP के झंडे', लखीमपुर पर अखिलेश ने योगी सरकार को फिर घेरा

अखिलेश ने तस्वीरों के साथ बीजेपी पर हमला भी बोला है. उन्होंने लिखा, '' यूपी के शासन-प्रशासन ने लखीमपुर के नामजद आरोपी को समन भेजने की जो औपचारिक कार्रवाई की है, उससे जनाक्रोश और बढ़ गया है.

Akhilesh Yadav Akhilesh Yadav
स्टोरी हाइलाइट्स
  • अखिलेश यादव ने की पीड़ित परिजनों से मुलाकात
  • उन्होंने कहा- गांवों से उतर गए बीजेपी के झंडे

यूपी के लखीमपुर खीरी में हुई हिंसा के बाद राज्य सरकार पर विपक्ष का हमला जारी है. लखीमपुर जाने की अनुमति मिलने के बाद विपक्षी दल के विभिन्न नेता एक-एक करके पीड़ित परिवार से मुलाकात कर रहे हैं. राहुल गांधी और प्रियंका गांधी के मुलाकात करने के बाद समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने गुरुवार को लखीमपुर खीरी का दौरा किया और मृतकों के परिजनों से मुलाकात की. उन्होंने यूपी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि गांवों से बीजेपी के झंडे उतर गए और इस घटना के बाद किसानों में एकता पैदा हो गई है.

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीटर पर अपने लखीमपुर खीरी दौरे की कुछ तस्वीरें साझा की हैं. इसमें वे हिंसा में जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों से मिलकर बात करते हुए दिखाई दे रहे हैं. अखिलेश ने तस्वीरों के साथ बीजेपी पर हमला भी बोला है. उन्होंने लिखा, '' यूपी के शासन-प्रशासन ने लखीमपुर के नामजद आरोपी को समन भेजने की जो औपचारिक कार्रवाई की है, उससे जनाक्रोश और बढ़ गया है. 'लखीमपुर हत्याकांड' के बाद जिस तरह पूरे देश, विशेषकर यूपी में किसानों के बीच भावात्मक एकता जन्मी है वो अभूतपूर्व है. गांवों में बीजेपी के झंडे उतर गए हैं.''

यूपी में अगले साल कई अन्य राज्यों के साथ विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. ऐसे में चंद महीने पहले लखीमपुर खीरी में हुई बीजेपी नेताओं और किसानों के बीच हिंसक घटना से विवाद खड़ा हो गया है. विपक्ष के नेता लगातार हमलावर हैं और केंद्रीय मंत्री अजय मिश्रा का इस्तीफा और उनके बेटे आशीष की गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं. वहीं, पूरा मामला सुप्रीम कोर्ट में चला गया है, जिसके बाद प्रशासन एक्शन में आ गया है. पुलिस ने आशीष मिश्रा के घर पर नोटिस चस्पा करके पूछताछ के लिए बुलाया है.

किसानों पर गाड़ी चढ़ा देना जिंदा लोकतंत्र है?

इससे पहले, आजतक से एक्सक्लूसिव बातचीत करते हुए अखिलेश यादव ने बोला था कि क्या किसानों पर गाड़ी चढ़ा देना ही पीएम मोदी का जिंदा लोकतंत्र है? उन्होंने कहा था कि कि पीएम नरेंद्र मोदी विदेश जाकर कहते हैं कि भारत में जिंदा लोकतंत्र है. लेकिन यहां किसानों को गाड़ी से कुचला जा रहा है, क्या यही उनका जिंदा लोकतंत्र है? अखिलेश यादव ने कहा कि जो लखीमपुर में हुआ वह तानाशाही का उदाहरण है. ऐसा हिटलरशाही में भी नहीं हुआ. अखिलेश बोले कि जो लखीमपुर में हुआ वह किसानों के साथ अन्याय है. सरकार में अहंकार भरा पड़ा है.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें