scorecardresearch
 

बलिया विधायक बोले- आरोपी ने आत्मरक्षा में चलाई गोली, मरने-मारने के अलावा रास्ता नहीं था

बलिया गोलीकांड में पुलिस ने अभी तक सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है, लेकिन मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह फरार है. बलिया से विधायक सुरेंद्र सिंह का कहना है कि आरोपी ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी.

बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह के साथ आरोपी धीरेंद्र सिंह बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह के साथ आरोपी धीरेंद्र सिंह
स्टोरी हाइलाइट्स
  • बलिया गोलीकांड में पुलिस का एक्शन तेज
  • अबतक सात लोगों को किया गया गिरफ्तार
  • मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह की तलाश जारी
  • MLA बोले- आत्मरक्षा में चलाई गई गोली

उत्तर प्रदेश के बलिया में जो गोलीकांड हुआ उसमें एक शख्स की मौत हो गई है. इस मामले में पुलिस ने कुछ आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन मुख्य आरोपी धीरेंद्र सिंह अभी भी गायब है. इस बीच बलिया से ही भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेंद्र सिंह ने आरोपी को लेकर बयान दिया है. विधायक ने कहा कि आरोपी ने आत्मरक्षा में गोली चलाई थी. 

बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने कहा, ‘धीरेंद्र सिंह अगर आत्मरक्षा में गोली नहीं चलाया होता, तो कम से कम उसके परिवार के दर्जनों लोग मार दिए गए होते. जिस तरह से प्रशासन अपनी कार्रवाई कर रहा है, मैं आग्रह करूंगा कि दूसरे पक्ष की बात भी करें’.

बलिया विधायक ने कहा, ‘अगर आरोपी ने गोली चलाई तो वो आत्मरक्षा में चलाई है, ये अपराध हो सकता है लेकिन आत्मरक्षा के लिए ही लाइसेंस मिलती है. लेकिन उनके सामने मरने और मारने के अलावा कोई दूसरा विकल्प नहीं था.’

गौरतलब है कि इससे पहले बलिया विधायक सुरेंद्र सिंह ने ही बयान दिया था कि आरोपी धीरेंद्र सिंह उनका सहयोगी है. विधायक के मुताबिक, लोकसभा और विधानसभा के चुनाव में उसने पार्टी का सहयोग किया है, ऐसे में मैं कैसे कह दूं कि वो मेरा सहयोगी नहीं है.  

देखें: आजतक LIVE TV

मामले में अबतक क्या हुआ एक्शन? 
आपको बता दें कि बलिया के दुर्जनपुर गांव में कुछ अफसरों के सामने ही दो गुटों में हिंसा हुई. इस दौरान यहां फायरिंग शुरू हुई और एक शख्स की मौत हो गई. जिसका आरोप धीरेंद्र सिंह पर लगा है. धीरेंद्र सिंह विधायक सुरेंद्र सिंह का करीबी है और चश्मदीदों का आरोप है कि पुलिस की लापरवाही के चलते वो यहां से भाग निकला. 

हालांकि, स्थानीय डीएम का दावा है कि पुलिस आरोपी की तलाश में लगी है और अभी तक इस मामले में सात लोगों को अरेस्ट किया जा चुका है. गोलीकांड के मामले में कुल आठ नामजद और 25 अज्ञात लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है.


 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें