scorecardresearch
 

आजम खान पर एक और शिकंजा, लखनऊ-गाजियाबाद में हज हाउस के निर्माण की होगी जांच

यूपी सरकार के इस फैसले के बाद आजम खान की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं. दरअसल यूपी सरकार ने बतौर मंत्री आजम खान के कार्यकाल में अल्पसंख्यक विभाग में हुए कामों की जांच कराने का फैसला किया है.

समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान (फोटो-पीटीआई) समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान (फोटो-पीटीआई)
स्टोरी हाइलाइट्स
  • हज हाउस निर्माण की होगी जांच
  • अल्पसंख्यक मंत्रालय ने बनाई एसआईटी
  • निर्माण में अनियमितता की आशंका

यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार समाजवादी पार्टी के नेता आजम खान के द्वारा बनवाए गए गाजियाबाद और लखनऊ हज हाउस के निर्माण की जांच कराएगी. सूत्रों के मुताबिक इन निर्माण कार्यों में गड़बड़ियां हुई थीं और जांच में इसका खुलासा किया जाएगा. 

यूपी सरकार के इस फैसले के बाद आजम खान की मुश्किलें और भी बढ़ सकती हैं. दरअसल यूपी सरकार ने बतौर मंत्री आजम खान के कार्यकाल में अल्पसंख्यक विभाग में हुए कामों की जांच कराने का फैसला किया है. 

राज्य के अल्पसंख्यक कल्याण मंत्री नंद गोपाल नंदी ने पीएम जन कल्याण योजना के तहत अल्पसंख्यक विभाग में कराए गए कार्यों की जांच एसआईटी से कराने के आदेश दे दिए हैं.  

सूत्रों के मुताबिक राज्य सरकार को पता चला है कि इस विभाग में गड़बड़ियां हुई थीं, जिसके चलते जांच कराने का फैसला किया गया है. सरकार की इस घोषणा के बाद आजम खान मुश्किल में पड़ सकते हैं. इस विशेष जांच में लखनऊ और गाजियाबाद में हज हाउस के निर्माण की भी जांच कराई जाएगी. 

बता दें कि इसी साल फरवरी में प्रशासन ने गाजियाबाद में बने हज हाउस को एनजीटी के आदेश पर सील कर दिया था. रिपोर्ट के मुताबिक इसमें सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट नहीं था. इस वजह से इससे निकलने वाला पानी हिंडन नदी के पानी को गंदा कर रहा था. 

इससे पहले रामपुर डेवलपमेंट अथॉरिटी ने अगस्त महीने के आखिरी दिनों में आजम खान के हमसफर रिजॉर्ट को तोड़ने के लिए नोटिस जारी किया था, जिसमें कहा गया कि सपा सांसद 15 दिनों के अंदर स्वयं अवैध निर्माण को ध्वस्त करें. 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें