scorecardresearch
 

अयोध्या की रामलीला में नेपाल से आएगी भगवान राम की शाही पोशाक, मंचन 17 अक्टूबर से

भगवान श्रीराम के शाही वस्त्र उनकी ससुराल जनकपुर धाम नेपाल से बनकर आ रहे हैं. वहीं देवी सीता के लिए गहने उनकी ससुराल अयोध्या में ही बन रहे हैं.

जनकपुर धाम से आएगी ड्रेस जनकपुर धाम से आएगी ड्रेस
स्टोरी हाइलाइट्स
  • 17 से 25 अक्टूबर तक होगा मंचन
  • किरदार निभाएंगे बॉलीवुड के सितारे
  • दर्शकों को नहीं होगी जाने की इजाजत

यूपी के अयोध्या में नवरात्रि के दौरान होने वाली चर्चित रामलीला के लिए भगवान राम की शाही पोशाक नेपाल से आएगी. रामलीला कमेटी के अध्यक्ष सुभाष मलिक उर्फ बॉबी ने बताया कि भगवान श्रीराम के शाही वस्त्र उनकी ससुराल जनकपुर धाम नेपाल से बनकर आ रहे हैं. देवी सीता के लिए गहने उनकी ससुराल अयोध्या में ही बन रहे हैं.

रामलीला कमेटी के अध्यक्ष के मुताबिक भगवान राम का धनुष कुरुक्षेत्र से आएगा. राक्षसराज दशानन रावण की कई पोशाकों में से एक पोशाक श्रीलंका से बनकर आई है. उन्होंने कहा कि अयोध्या की रामलीला को 14 भाषाओं में प्रसारित किया जाएगा. इनमें राष्ट्र भाषा हिंदी तो लीला मंचन की भाषा होगी ही, लेकिन इसे अंग्रेजी, भोजपुरी, तमिल, तेलगू, कन्नड़, मराठी, पंजाबी, उर्दू, राजस्थानी, हरियाणवी, बांग्ला, उड़िया के साथ ही देवी सीता के जन्म स्थान मिथिला की भाषा मैथिली में भी रिकॉर्ड कर मंचन के एक हफ्ते बाद सोशल मीडिया प्लेटफार्म यूट्यूब पर अपलोड कर दिया जाएगा.

देखें: आजतक LIVE TV

बॉबी के मुताबिक रामलीला मंच पर अभिनेताओं में अधिकतर बॉलीवुड के सितारे हैं. इनमें विन्दु दारा सिंह, अवतार गिल, राकेश बेदी, शाहबाज खान मुंबई में रिहर्सल कर रहे हैं. इस रामलीला में अंगद की भूमिका में सांसद और फिल्म स्टार मनोज तिवारी और भरत की भूमिका में गोरखपुर के सांसद फिल्म स्टार रवि किशन नजर आएंगे. विन्दु दारा सिंह हनुमान, असरानी नारद, रजा मुराद अहिरावण और शाहबाज खान रावण की भूमिका निभाएंगे.

उन्होंने बताया कि अवतार गिल सुबाहु और राजा जनक के किरदार में नजर आएंगे. राजेश पुरी सुतीक्ष्ण और निषादराज के किरदार में होंगे. अभिनेत्री रितु शिवपुरी कैकेयी, राकेश बेदी विभीषण, राकेश बेदी की बेटी सुलोचना के किरदार में नजर आएंगी. फिल्म स्टार सुरेंद्र पाल सिंह भी अलग-अलग रोल निभाएंगे. रामलीला कमेटी के अध्यक्ष ने बताया कि अयोध्या की रामलीला के मंचन में दर्शकों को आने की स्वीकृति बिल्कुल नहीं होगी.

उन्होंने बताया कि रामलीला को सिर्फ सैटेलाइट चैनल्स, यूट्यूब चैनल और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ही देखा जा सकेगा. मंचन 17 से 25 अक्टूबर तक शाम 7 से 10 बजे तक सरयू तट पर लक्ष्मण किला में होगा.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें