scorecardresearch
 

राम मंदिर निर्माण की मांग के लिए आई मुस्लिम महिला, मिला 'ठकुराइन सिया दुलारी' नाम

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर शुरुआती तैयारी चल रही है. मुस्लिम समाज के लोगों में भी मंदिर निर्माण कार्य जल्द शुरू होने को लेकर उत्सुकता बनी हुई है. मुस्लिम समाज से जुड़े लोगों का कहना है कि मुसलमानों के लिए दर्शन को लेकर एक अलग से कोई रास्ता बनाया जाए.

श्री राम अयोध्या तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष संत नृत्य गोपाल दास (फाइल-PTI) श्री राम अयोध्या तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष संत नृत्य गोपाल दास (फाइल-PTI)

  • नृत्य गोपाल दास से मिलने आया मुस्लिम महिला-पुरुषों का दल
  • मुस्लिम लोगों ने जल्द से जल्द राम मंदिर बनाने की मांग की
  • शन्नो खान नाम की एक मुस्लिम महिला को मिला नया नाम

अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद ट्रस्ट के गठन के साथ ही इस संबंध में काम शुरुआती स्तर पर है, लेकिन इस बीच राम नगरी में मुस्लिम महिला-पुरुषों का एक दल निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास और श्री राम अयोध्या तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष संत नृत्य गोपाल दास से मिला और जल्द से जल्द मंदिर निर्माण कार्य शुरू करने की बात कही. इस दौरान संत नृत्य गोपाल दास ने शन्नो खान नाम की एक मुस्लिम महिला को ठकुराइन सिया दुलारी नाम दे दिया.

राम मंदिर के निर्माण कार्य की जल्द से जल्द शुरू कराने की मांग के साथ कल गुरुवार को करीब 50 मुस्लिम महिला-पुरुषों का एक दल अयोध्या आया और उसने निर्मोही अखाड़े के महंत दिनेंद्र दास और श्री राम अयोध्या तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष संत नृत्य गोपाल दास से मुलाकात की और जल्द से जल्द राम मंदिर निर्माण शुरू करने का आह्वान किया.

नृत्य गोपाल दास ने दिया नया नाम

हालांकि इस मुलाकात के दौरान अद्भुत दृश्य उस समय नजर आया जब संत नृत्य गोपाल दास ने शन्नो खान नाम की एक मुस्लिम महिला को नया नाम दे दिया और यह नाम था ठकुराइन सिया दुलारी. इस नए नाम को पाकर मुस्लिम महिला भी गदगद नजर आई.

ठकुराइन सिया दुलारी नाम पाने वाली मुस्लिम महिला ने राम मंदिर के जल्द निर्माण की मांग के साथ-साथ नागरकिता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ दिल्ली के शाहीन बाग में धरने पर बैठीं महिलाओं की जमकर आलोचना की. यही नहीं कई अन्य मुस्लिम मौलाना और मुस्लिम धर्म से जुड़े मुस्लिम बुद्धिजीवी वर्ग के लोगों ने भी शाहीन बाग जैसे आंदोलनों की आलोचना की और राम मंदिर का समर्थन करते हुए मुस्लिम धर्म के लोगों को आपसी भाईचारे बनाए रखने की बात कही जो अब तक अयोध्या की खास परंपरा रही है.

शन्नो खान उर्फ शिया ठकुरानी दुलारी ने कहा, 'हम यहां मंदिर में आए हैं तो हमको हमारे महाराज जी ने कुछ देखा ही होगा. उन्होंने हमें नया नाम दिया ठकुराइन सिया दुलारी. महाराज जी से हमने कहा कि राम मंदिर बनना चाहिए. महाराज जी ने आशीर्वाद दिया और हमें प्रसाद दिया और नया नाम भी दिया.'

सीएए के खिलाफ शन्नो खान

सीएए पर प्रदर्शन कर रही महिलाओं के बारे में शन्नो खान ने कहा कि पता नहीं वे कौन लोग हैं जो ऐसा कर रहे हैं. हम लोगों की नागरिकता छीनने के लिए थोड़े ही यह काम हो रहा है. नागरिकता उन्हें दी जाएगी जो शरणार्थी बाहर से आ रहे हैं. हमारा तो हिंदुस्तान वतन है हमें थोड़े ही निकाला जा रहा है. हमें अमन और शांति फैलाना चाहिए.

इस बीच सुन्नी सेंट्रल फोरम के राष्ट्रीय अध्यक्ष वसी हैदर ने कहा कि जो लोग सीएए का विरोध कर रहे हैं वो देश के हित में बिल्कुल काम नहीं कर रहे हैं और हम लोग समर्थन करते हैं. हिंदुस्तानी मुसलमान को सीएए के समर्थन में आना चाहिए. हम लोग यहां पर भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए आए हैं.

उन्होंने कहा कि हम लोग चाहते हैं कि जल्दी से जल्दी राम मंदिर निर्माण शुरू करवाया जा सके और अपने जितने भी मुस्लिम भाई यहां पर सब को एक रास्ता दिया जाए जिससे वह राम मंदिर का दर्शन कर सकें.

इसे भी पढ़ें--- अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए SBI में खुला चालू खाता

इसे भी पढ़ें--- UP में बीजेपी के सबसे अधिक समय तक CM रहने वाले नेता बने योगी आदित्यनाथ

इस दौरान श्री राम तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष संत नृत्य गोपाल दास ने कहा कि सभी मुस्लिम बंधु अभी यहां आए थे. सभी ने बड़े प्रेम और श्रद्धा से हमसे मुलाकात की. मुस्लिम महिलाओं और पुरुषों सबने कहा कि श्री राम जहां विराजमान है शीघ्र से शीघ्र मंदिर का निर्माण होना चाहिए. सभी मुस्लिम बंधु इस पक्ष में है कि इसमें विलंब नहीं होना चाहिए.

इसे भी पढ़ें--- वेदांती बोले- राम मंदिर का शुरुआती ढांचा बनाने में लग सकते हैं 4 साल, 2024 से पहले होगा तैयार

निर्मोही अखाड़ा के महंत दिनेंद्र दास ने कहा कि सब लोग देश के हैं. देश में जो सुप्रीम कोर्ट के निर्णय आया सब लोगों को पसंद है और भगवान राम पर विश्वास बना रहा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें