scorecardresearch
 

2019 से पहले पूर्वांचल को साधेंगे शाह और मोदी

2019 लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश का पूर्वांचल, सत्तारूढ़ भाजपा के लिए विशेष महत्व रखता है. इसी सिलसिले में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को अपने वाराणसी और मिर्जापुर प्रवास के दौरान पूर्वांचल की रणनीति को लेकर चर्चा करेंगे.

X
मिर्जापुर में अमित शाह और योगी आदित्यनाथ (फोटो क्रेडिट- नीरज कुमार) मिर्जापुर में अमित शाह और योगी आदित्यनाथ (फोटो क्रेडिट- नीरज कुमार)

2019 लोकसभा चुनावों के मद्देनज़र देश के सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश का पूर्वांचल, सत्तारूढ़ भाजपा के लिए विशेष महत्व रखता है. इसी सिलसिले में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने बुधवार को वाराणसी और मिर्जापुर का दौरा किया. यहां उन्होंने कहा कि PM की नेतृत्व में आज MSP पर बड़ा फैसला लिया गया है, यह क्रांतिकारी कदम है. उन्होंने कहा कि आज का दिन किसान दीपावाली की तरह मनाएगा क्योंकि 70 सालों की यह मांग पूरा किया गया है.

उन्होंने कहा कि किसी सरकार ने लागत मूल्य से डेढ़ गुणा बढ़ाकर समर्थन मूल्य देने की कोशिश किसी ने नहीं की, देश के किसानों को बचाने के लिए आने वाले दिनों मे और बड़ा फैसला होने वाला है.

आपको बता दें कि शाह आज पार्टी पदाधिकारियों के साथ मिर्जापुर बैठक भी करेंगे. वहीं देर शाम वाराणसी पहुंचकर बड़ा लालपुर स्थित ट्रेड फैसिलिटी सेंटर में लगभग 2000 IT सेल के वॉलंटियर्स के साथ बैठक करेंगे.

बैठक में  Facebook, Twitter व अन्य सोशल साइट्स पर किस तरीके से तथ्यों के साथ जवाब देना है इसको लेकर के विचार-विमर्श किया जाएगा. तो वहीं रात्रि विश्राम के लिए अस्सी इलाके के अमेठी कोठी में रात्रि भोज के साथ शहर के कई पदाधिकारियों के साथ पीएम मोदी के आगामी दौरे को लेकर बातचीत भी करेंगे. और अगले दिन बाबतपुर लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट से  ताज नगरी आगरा के लिए रवाना होंगे.

इसे पढ़ें: शाह आज केरल दौरे पर, प्रदेश अध्यक्ष पर भी हो सकता है फैसला

आपको बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 14 जुलाई को वाराणसी और 15 जुलाई को आज़मगढ़ के दौरे पर होंगे जिसे लेकर तैयारियां जोरों पर है. यूपी की राजनीति मे आज़मगढ़ और वाराणसी की सीट बड़े राजनीतिक संकेत देने का माद्दा रखती है. शायद यही वजह थी कि 2014 में जब पीएम मोदी वाराणसी से लोकसभा चुनाव लड़ रहे थे तो दूसरी तरफ समाजवादी पार्टी के तत्कालीन मुखिया मुलायम सिंह यादव ने आजमगढ़ को अपनी संसदीय सीट के तौर पर चुना था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें