scorecardresearch
 

AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर गोलियां चलाने वालों को मिली जमानत, कोर्ट ने रखी यह शर्त

यूपी में विधानसभा चुनाव के दौरान AIMIM प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी पर हमला करने वाले दो आरोपी सचिन और शुभम को प्रयागराज कोर्ट ने जमानत दी है. दोनों को सशर्त जमानत दी गई है. ओवैसी पर हमले का वीडियो भी सामने आया था. जिसमें दोनों आरोपी ओवैसी की कार पर गोलियां बरसा रहे थे. आरोपियों ने गोली चलाने की वजह भी बताई थी.

X
असदुद्दीन ओवैसी पर किया गया था हमला असदुद्दीन ओवैसी पर किया गया था हमला
स्टोरी हाइलाइट्स
  • ओवैसी पर हमला करने वालों को कोर्ट से जमानत
  • मेरठ से लौटने के दौरान किया गया था हमला

यूपी विधानसभा चुनाव के दौरान एआईएमआईएम चीफ असद्दुदीन ओवैसी (AIMIM Chief Asaduddin Owaisi) पर हमला करने वाले दो मुख्य आरोपियों को प्रयागराज हाई कोर्ट से जमानत मिल गई है. दोनों आऱोपियों को सशर्त जमानत दी गई है. घटना का वीडियो भी सामने आया था.

AIMIM प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी जब यूपी विधानसभा चुनाव प्रचार के दौरान हापुड़ टोल प्लाजा पर दोनों आरोपी शुभम और सचिन ने गोलियां बरसाईं थी. इस हमले में ओवैसी बाल-बाल बच गई थे. मामले में पुलिस ने 307 का मामला दर्ज किया था और अदालत में चार्जशीट दाखिल की थी. प्रयागराज कोर्ट ने आरोपी सचिन और शुभम को सशर्त मंजूरी दी है. जिसमें कोर्ट ने कहा है कि आरोपी गवाहों को ना धमकाएं और ना केस में किसी तरह की दखल अंदाजी करने की कोशिश करें वरना जमानत रद्द कर दी जाएगी.

हापुड़ में ओवैसी पर हुआ था हमला

असदुद्दीन ओवैसी जब मेरठ से जनसभा करके लौट रहे थे तो हापुड़ टोल प्लाजा पर उनकी कार पर हमला हुआ था. इसमें 3-4 गोलियां चली थीं, जिसके कार पर निशान ओवैसी ने खुद ट्वीट करके दिखाए थे. हमले का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आ गया था. जिसमें दोनों आरोपी गोली चलाते नजर आ रहे थे. हमला करने वाले दोनों आरोपियों में से एक को मौके से ही गिरफ्तार कर लिया गया था. दूसरे आरोपी ने सरेंडर किया था.बाद में दोनों आरोपियों को पिलखुवा पुलिस ने गिरफ्तार किया था.

आरोपी ने यह बताई थी हमला करने की वजह

ओवैसी पर गोलियां बरसाने वाले आरोपी सचिन का एक कबूलनामा भी सामने आया था. इसमें सचिन शर्मा पुलिसवालों से कहा था कि 2014 में एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी के भाई अकबरुद्दीन ओवैसी का एक बयान आया था, उसमें उन्होंने कहा कि ये जो ताजमहल है और कुतुब मीनार है ये सब हमारे बाप-दादाओं का है. उस बयान को सुनकर मुझे बुरा लगा था.

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें