scorecardresearch
 

आज का दिन: UP में होगा नेतृत्व परिवर्तन या योगी के नेतृत्व में ही चुनाव लड़ेगी BJP?

जब भाजपा उत्तर प्रदेश में किसी तरह के परिवर्तन से इनकार कर रही है तो इन सभी बैठकों के क्या मायने हैं ? कहा जा रहा था कि 2017 की तरह एक सांगठनिक तौर पर बीजेपी चुनाव लड़ सकती है.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

403 विधानसभा सीटों वाले उत्तरप्रदेश की योगी सरकार के संबंध में आरएसएस, बीजेपी और मोदी-शाह ने पिछले दिनों अहम बैठकें की हैं और और इसमें आने वाले चुनाव की रणनीति पर बातें हुई हैं. कुछ दिनों पहले ही हुई राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह, दत्तात्रेय होसबले की बैठक के बाद यहां  कैबिनेट विस्तार और कैबिनेट रिसफ्लिंग की बातें होने लगती हैं। इसके ठीक बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मिलने पहुंचते हैं, जिसके बाद ये चर्चा चलने लगती है कि यूपी में बीजेपी अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की जगह अब कमान केशव प्रसाद मौर्या संभाल सकते हैं। इन सभी चर्चाओं के बीच बीजेपी के संगठन महासचिव बीएल संतोष बुधवार को अपनी फीडबैक रिपोर्ट लेकर दिल्ली चले गए जिसके बाद मामला फिर से गर्मा गया कि क्या उत्तर प्रदेश भाजपा में कोई परिवर्तन होता दिख सकता है ?

 लेकिन इन सभी बातों को बीएल संतोष ने एक सिरे से ख़ारिज कर दिया. अब दिल्ली में बीजेपी राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मिलकर लखनऊ लौटे भाजपा के प्रदेश प्रभारी राधा मोहन , कल रविवार को सीधे राज्यपाल से मिलने पहुंचे और एक बंद लिफ़ाफ़ा सौंपा  तो अब इस लिफ़ाफ़े में क्या है. क्या मंत्रिमंडल के विस्तार की कोई बात है लेकिन प्रदेश प्रभारी तो ऐसा नहीं कर सकते क्योंकि ऐसी स्थिति में तो मुख्यमंत्री ही राज्यपाल से मिलते हैं. तो फिर मामले की रिपोर्ट या संगठन की किसी चर्चा की रिपोर्ट हो सकती है. ख़ैर राधामोहन ने इस मुलाकात को शिष्टाचार मुलाकात ही बताया लेकिन सवाल अब भी बना हुआ है कि जब भाजपा उत्तर प्रदेश में किसी तरह के परिवर्तन से इनकार कर रही है तो इन सभी बैठकों के क्या मायने हैं ? कहा जा रहा था कि 2017 की तरह एक सांगठनिक तौर पर बीजेपी चुनाव लड़ सकती है.लेकिन रविवार देर रात स्वतंत्र देव सिंह ने स्पष्ट कर दिया कि नहीं ऐसा नहीं होगा. योगी के नेतृत्व में ही 2022 का चुनाव होगा कैसे देखा जाए?

मैसाचुसेट्स और  न्यू हैम्पशायर,  मेन, वरमॉण्ट  रोड आइलैंड और कनेक्टिकट मिलाकर अमेरिका के ये छह राज्य हैं, जो न्यू इंग्लैंड कहे जाते हैं.  जहाँ सबसे ज़्यादा वैक्सीनेशन रेट हैं. जिससे वहां कोविड -19 के डेली केसेस, अस्पताल में भर्ती होने वाले मरीजों और मौत की संख्या में 60 प्रतिशत तक गिरावट देखी गई है. अब यहां कोरोना पर लगाम लगाने के लिए जो मॉडल अपनाया गया उसकी काफी चर्चा हो रही है. तो क्या है ये मॉडल ?

 केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय ने रविवार को देश के राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के लिए परफॉर्मेंस ग्रेडिंग इंडेक्स PGI 2019-20 जारी किया है. इसमें 70 सटैंडर्ड्स के एक सेट के तहत राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों को ग्रेड दिए जाते हैं. तो राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों ने पिछले सालों की तुलना में PGI 2019-20 में अपने ग्रेड में कितना सुधार किया है?

इन ख़बरों पर विस्तार से बात के अलावा बिहार के मुंगेर से कोरोना से जुड़ी ग्राउंड रिपोर्ट, हेडलाइंस और आज के दिन की इतिहास में अहमियत सुनिए 'आज का दिन' में अमन गुप्ता के साथ.

7 जून का 'आज का दिन' सुनने के लिए यहां क्लिक करें...

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें