scorecardresearch
 

सीएम आवास पर इटावा से आए किसान ने खाया जहर, हालत नाजुक

लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सरकारी आवास पर रविवार को एक किसान के जहर खा लेने से हड़कंप मच गया है. किसान ने यह कदम बैंक अधिकारी और अमीन की प्रताड़ना से दुखी होकर उठाया है.

X
डॉक्टरों के मुताबिक किसान की हालत नाजुक बनी हुई है डॉक्टरों के मुताबिक किसान की हालत नाजुक बनी हुई है

लखनऊ में मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के सरकारी आवास पर रविवार को एक किसान के जहर खा लेने से हड़कंप मच गया. किसान ने यह कदम बैंक अधिकारी और अमीन की प्रताड़ना से दुखी होकर उठाया है. गंभीर हालत में उसे सिविल हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है. जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है.

मुख्यमंत्री के गृह जिले से आया था किसान
जानकारी के मुताबिक 40 साल का किसान कर्ज माफी के लिए मुख्यमंत्री से मिलने पहुंचा था. मुलाकात नहीं होने पर निराश होकर उसने जहर खा लिया. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किसानों की समस्याओं को देखते हुए तमाम अधिकारियों को उनकी समस्याओं का निदान करने का आदेश किया हुआ है. इसके साथ ही बैंक अधिकारियों को किसानों के कर्जों को लेकर परेशान नहीं करने का फरमान सुनाया हुआ है.

सीएम से नहीं मिलने पर खुदकुशी की कोशिश
मुख्यमंत्री के इस आदेश के बावजूद आज भी किसान कर्ज के बदले बैंक अधिकारियों की प्रताड़ना का शिकार हो रहे हैं. इसके नतीजे में मजबूर हो वे लोग अपनी जान देने पर आमादा हैं. इस बार यह कदम मुख्यमंत्री के गृह जिले इटावा का रहने वाला 40 साल का संत विजय अखिलेश यादव से मिलने पहुंचा था. मुलाकात नहीं होने पर खुदकुशी की कोशिश कर बैठा.

मौसम की मार ने कर्ज चुकाने लायक नहीं छोड़ा
जहर खाने के तुरंत बाद विजय को सिविल हॉस्पिटल भर्ती कराया गया. डॉक्टर के मुताबिक उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. किसान विजय इटावा के ककरहिया गांव के रहने वाले हैं. उसने किसान क्रेडिट कार्ड के जरिए खेती के लिए कुछ बैंकों से दो लाख रुपए का कर्ज लिया हुआ है. मौसम की मार के चलते आर्थिक तंगी से गुजर रहा है. वह खुद को कर्ज चुकाने की हालत में नहीं पाता.

बैंक और अमीन का दबाव बढ़ने से तंग है किसान
किसान की दयनीय हालत के बावजूद बैंक अधिकारियों और अमीन की तरफ से लगातार उसे प्रताड़ित किया जा रहा है. उस पर जल्दी कर्ज चुकाने का नाजायज दबाव बनाया जा रहा है. इससे निराश होकर वह अब अपनी जान देने के लिए मजबूर है.

पुलिस ने कहा-जल्द होगा समस्या का समाधान
घटना के बाद अस्पताल में पुलिस अधिकारियों का जमावड़ा लग गया. वहां पहुंचे क्षेत्राधिकारी अशोक वर्मा का कहना है कि अब विजय खतरे से बाहर है. उसकी समस्या का बहुत जल्द समाधान किया जाएगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें