scorecardresearch
 
उत्तर प्रदेश

वाराणसी: बच्चों की कुश्ती के लिए नहीं थी कोई जगह, इस शख्स ने खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 1/6

सुशील कुमार, योगेश्वर दत्त और साक्षी मलिक जैसे रेसलर ने कुश्ती की बदौलत पूरी दुनिया में भारत का परचम लहराया. ऐसे में वाराणसी में भविष्य के कुश्ती लड़ने वालों खिलाड़ियों की समस्या को देखते हुए एक शख्स ने जो किया वो जानकर आप भी उनपर गर्व करेंगे.

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 2/6

वाराणसी के सेवापुरी में कुश्ती के खिलाड़ियों की समस्या को देखते हुए सूबेदार यादव ने अपना खेत गिरवी रखकर अखाड़े का निर्माण कराया है ताकि गांव के बच्चे इस अखाड़े में अभ्यास करके गांव सहित देश का नाम पूरी दुनिया में रौशन कर सकें.

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 3/6

वाराणसी के सेवापुरी ब्लॉक निवासी सूबेदार यादव ने गांव में कुश्ती के खिलाड़ियों की समस्या को देखते हुए अपने 2 बीघे खेत को गिरवी रख कर अखाड़े का निर्माण कराया है.  इस अखाड़े में प्रतिदिन तीस से ज्यादा खिलाड़ी कुश्ती के दांव-पेच सीखते हैं साथ ही आसपास के लोग व्यायाम करने आते हैं. 

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 4/6

सूबेदार यादव को ये प्रेरणा शक्तेशगढ में स्वामी अड़गड़ानंद के अखाड़ा को देखकर मिली जिसके बाद उन्होंने अपने गांव में अखाड़ा बनवाने की ठान ली. पैसा नहीं होने की वजह से उन्होंने अपने खेत को गिरवी रखा और कुछ पैसे अपने रिश्तेदारों से से पैसे लेकर गांव में अखाड़े का निर्माण कराया. 
 

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 5/6

इसके बाद उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र भेजकर अखाड़े की चारदीवारी और सौंदर्यीकरण की मांग की है.

खेत गिरवी रखकर बनवाया अखाड़ा
  • 6/6

गांव में अखाड़े की कमी होने की वजह से गांव के युवा कुश्ती से वंचित रह जाते थे पर जब से इस गांव में सूबेदार यादव ने अखाड़े का निर्माण कराया है यहां कुश्ती करने वाले खिलाड़ी राज्य स्तर पर भी खेल रहे हैं और आगे इंटरनेशनल मैच खेलने की प्रैक्टिस कर रहे हैं.