scorecardresearch
 
उत्तर प्रदेश

UP: कोरोना का ग्रहण, शादी का कार्ड बांटने के बाद टालनी पड़ी शादी, लड़की के पिता को हुआ लाखों का नुकसान

कोरोना की वजह से टालनी पड़ी शादी की तारीख
  • 1/5

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की वजह से यूपी के महाराजगंज में रहने वाले एक परिवार को अपनी बेटी की शादी की तारीख टालनी पड़ी. जायसवाल परिवार की बेटी पूजा जायसवाल की शादी 02 माई को होनी थी. लगभग शादी की पूरी तैयारी हो चुकी थी कार्ड बांटे जा चुके थे. रिश्तेदारों ने शादी में शामिल होने के लिए फ्लाइट और ट्रेन का टिकट भी कटा लिया था. लेकिन कोरोना की वजह से आखिरी समय पर शादी को टालना पड़ा. 

कोरोना की वजह से टालनी पड़ी शादी की तारीख
  • 2/5

महराजगंज जिले के राजीव नगर निवासी रमेश जायसवाल की बेटी पूजा जायसवाल की शादी गोरखपुर के नौसढ़ निवासी नवीन के साथ 02 मई को शादी होनी थी. घर में शादी की तैयारियां लगभग पूरी हो गई थीं. दुल्हन की ज्वेलरी, शादी का लहंगा, टेंट, लाइट, सारी चीजों की तैयारियां पूरी हो गई थी. लेकिन यूपी में बढ़ते कोरोना के कारण जयसवाल परिवार को अपनी बेटी को टाल दिया जिसकी वजह उन्हें ढाई से तीन लाख रुपये का नुकसान हुआ. 

कोरोना की वजह से टालनी पड़ी शादी की तारीख
  • 3/5

कोरोना के प्रकोप को देखते हुए दोनों परिवारों ने आपसी सामंजस्य से शादी की तारीख को टाल देना ही सही समझा. जिन रिश्तेदारों को कार्ड दिया गया था उन्हें फोन और वॉट्सऐप के जरिए शादी टालने की खबर दी जा रही है. कई शहरों में लॉकडाउन जैसी स्थिति है. बीमार होने के बाद लोगों को इलाज तक नहीं मिल पा रहा है. 

कोरोना की वजह से टालनी पड़ी शादी की तारीख
  • 4/5

दुल्हन के पिता रमेश जायसवाल ने बताया कि बिटिया की शादी के लिए पाई- पाई जोड़कर रुपये इकट्ठे किये थे. अब तैयारियों में लगा सारा पैसा बर्बाद हो गया.  उनके काफी रुपये डूब गए. कोरोना की वजह से उन्हें बेटी की शादी को टालना पड़ा.  लड़की के पिता रमेश जायसवाल ने बताया कि उनके ढाई से तीन लाख रुपये अब तक बर्बाद हो गए हैं. फिर से सारी तैयारियां करनी पड़ेंगी. कोरोना के इस भयंकर दौर में अगर जिंदगी बची रही तो वो आगे बिटिया की शादी धूम धाम से करेंगे.

कोरोना की वजह से टालनी पड़ी शादी की तारीख
  • 5/5

वहीं दुल्हन पूजा जयसवाल का कहना है कि कोविड इतना फैल गया है,  जिसकी वजह से उनके परिवार को यह निर्णय लेना पड़ा. कम से कम रिश्तेदार भी आते तो भी संक्रमित होने का खतरा बढ़ा रहता. जिसकी वजह से काफी दिक्कतें बढ़ सकती थी. माहौल ठीक होने के बाद ही शादी की डेट को फिर से फिक्स किया जाएगा.