scorecardresearch
 

अग्निपथ विरोध के दौरान फायरिंग में छात्र की मौत, तेलंगाना सरकार देगी 25 लाख रुपये मुआवजा

सिकंदराबाद में हुई फायरिंग में जिस शख्स की मौत हुई है, उसकी पहचान तेलंगाना के वारंगल जिले के रहने वाले दमेरा राकेश के रूप में हुई है.

X
सिकंदराबाद फायरिंग में एक शख्स की मौत सिकंदराबाद फायरिंग में एक शख्स की मौत
स्टोरी हाइलाइट्स
  • सिंकदराबाद फायरिंग में एक की मौत
  • प्रदर्शनकारियों ने लगा दी थी ट्रेन में आग

अग्निपथ योजना के विरोध में बिहार, यूपी, उत्तराखंड, राजस्थान, हरियाणा और तेलंगाना समेत कई राज्यों में प्रदर्शन हुए. इनमें से कई जगहों पर प्रदर्शन हिंसक हो गए. तेलंगाना के सिकंदराबाद रेलवे स्टेशन पर शुक्रवार को भारी बवाल हुआ. यहां एक ट्रेन में आग लगा दी गई. साथ ही काफी तोड़फोड़ की गई थी. विरोध प्रदर्शन के दौरान कुल 17 राउंड फायरिंग हुई है. इसमें एक शख्स की मौत भी हो गई है. वहीं 13 लोग घायल हुए हैं. 

सिकंदराबाद में हुई फायरिंग में जिस शख्स की मौत हुई है, उसकी पहचान तेलंगाना के वारंगल जिले के रहने वाले दमेरा राकेश के रूप में हुई है. गोली लगने से वह गंभीर रूप से घायल हो गया था और मौके पर ही उसकी मौत हो गई थी. पुलिस ने परिजनों को इसके बारे में जानकारी दी और उन्हें हैदराबाद लेकर आई. मृतक के पिता का नाम कुमारस्वामी और माता का नाम पूलम्मा है. 

वारंगल के रहने वाले युवा की मौत

मृतक राकेश की बड़ी बहन संगीता बीएसएफ कर्मचारी है. राकेश का भी फिजिकल टेस्ट पूरा हो गया था और वह लिखित परीक्षा का इंतजार कर रहा था. सिकंदराबाद फायरिंग में हुई मौत पर नरसंपेट के विधायक पेद्दा सुदर्शन रेड ने निंदा की है. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार को इस तबाही की पूरी जिम्मेदारी लेनी चाहिए और मृतक के परिजनों को मुआवजा भी देना चाहिए. 

तेलंगाना सरकार देगी मुआवजा

वहीं तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव ने सिकंदराबाद में हुई घटना के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया. मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी की गई प्रेस रिलीज में कहा गया है कि मोदी सरकार द्वारा अपनाई गई गलत नीति की वजह से देश में व्यापक आंदोलन हुए. सीएमओ की ओर से बताया गया है कि प्रदर्शनकारी डी राकेश के लिए 25 लाख रुपये का मुआवजा देने की घोषणा होगी. इसके अलावा परिवार के लिए एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का वादा भी किया गया है.
 

अब तक कई ट्रेनें हो चुकी हैं रद्द

बता दें कि शुक्रवार की सुबह बिहार के समस्तीपुर और लखीसराय में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन में आग लगा दी थी. इसके अलावा युवाओं ने उत्तर प्रदेश के बलिया रेलवे स्टेशन पर तोड़फोड़ की. वहीं इस बवाल को देखते हुए पूर्वोत्तर रेलवे ने 22 ट्रेनें, नॉर्थर्न रेलवे ने 15 ट्रेनें और ईस्ट सेंट्रल रेलवे ने 164 ट्रेनें कैंसिल कर दी हैं. इसके अलावा कई ट्रेनें अपने रूटीन से प्रभावित भी हुई हैं. 

(रिपोर्ट- दामोदर)

 

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें