scorecardresearch
 

इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर लोकसभा में हंगामा, आपस में भिड़ी कांग्रेस-बीजेपी

लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही विपक्ष खासकर कांग्रेस के सांसदों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया. कांग्रेस के सांसद पहले तो अपनी-अपनी सीटों पर हंगामा करते रहे. लेकिन जैसे-जैसे प्रश्नकाल आगे बढ़ता रहा और उनके स्थगन प्रस्ताव को लेकर कोई विचार नहीं हुआ तो कांग्रेस नेता वेल में आकर हंगामा करने लगे.

लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा (फोटो साभार: लोकसभा टीवी) लोकसभा में कांग्रेस का हंगामा (फोटो साभार: लोकसभा टीवी)

  • इलेक्टोरल बॉन्ड को लेकर कांग्रेस ने की सरकार को घेरने की कोशिश
  • शीतकालीन सत्र के चौथे दिन कांग्रेस ने उठाया इलेक्टोरल बॉन्ड का मुद्दा
  • लोकसभा में कांग्रेस सांसदों ने प्रश्नकाल के दौरान किया हंगामा

लोकसभा की कार्यवाही शुरू होने के साथ ही विपक्ष खासकर कांग्रेस के सांसदों ने सदन में हंगामा शुरू कर दिया. कांग्रेस के सांसद पहले तो अपनी-अपनी सीटों पर हंगामा करते रहे. लेकिन जैसे-जैसे प्रश्नकाल आगे बढ़ता रहा और उनके स्थगन प्रस्ताव को लेकर कोई विचार नहीं हुआ तो कांग्रेस नेता वेल में आकर हंगामा करने लगे. कांग्रेस का हंगामा देख लोकसभा अध्यक्ष को हस्तक्षेप करना. अब कांग्रेस शून्य काल में अपना पक्ष रखेगी.

लोकसभा अध्यक्ष ने की समझाने की कोशिश

लोकसभा अध्यक्ष ने वेल में आए सदस्यों को समझाते हुए कहा कि सदन में युवाओं और खिलाड़ियों पर चर्चा हो रही है. आपको हमेशा अपनी बात रखने का मौका मिलता है. लेकिन आप वेल में आकर नारेबाजी कर रहे हैं. सदन की मर्यादा बनाए रखना हम सबकी जिम्मेदारी है. वेल में आकर आसन से बात करना सही नहीं है. आप सभी से निवेदन है कि अपनी सीटों पर जाएं. मैं अगर आपको स्थगन पर व्यवस्था देता तो आप वेल में आते. स्थगन पर अभी विचार भी नहीं किया है. वेल में आकर कोई भी आसन से बात ना करे, यही आग्रह है.

कांग्रेस सांसद ने कहा- इलेक्टोरल बॉन्ड एक बहुत बड़ा घोटाला

इसके बाद कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि आप हमारे स्पीकर हैं. आपने विपक्ष को सहयोग करने की बात कही थी. हमने आपको स्थगन प्रस्ताव इसलिए दिया क्योंकि यह मुद्दा जरूरी था. मजबूरन हमें वेल में जाना पड़ता है. आपको छोटा करने के लिए नहीं. देश को लूटा जा रहा है. इलेक्टोरल बॉन्ड एक बहुत बड़ा घोटाला है. सत्ता पक्ष पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि 2 जी और कोल के मामले को लेकर आपने कितने दिन संसद ठप रखी आज हमें सिखा रहे हैं.

संसदीय कार्य मंत्री ने शून्य काल में मुद्दा उठाने की बात कही

संसदीय कार्य मंत्री प्रहलाद जोशी ने जवाब देते हुए कहा कि शून्यकाल का इतिहास बन चुका है. भ्रष्टाचार का मुद्दा उस वक्त था तो हम वेल में आते थे. हमारी सरकार में भ्रष्टाचर का एक भी मुद्दा नहीं है आप शून्यकाल में अपना मुद्दा उठाइए. विपक्ष के पास इसे लेकर केवल राजनीति करनी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें