scorecardresearch
 

बंगाल में बवाल: BJP ने TMC पर लगाया कार्यकर्ताओं को पीटने का आरोप, थाने का किया घेराव

रविवार देर रात टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच फिर झड़प हुई है. इस दौरान आधा दर्जन से अधिक बीजेपी कार्यकर्ताओं के घायल होने की खबर है.

निमता पुलिस स्टेशन के सामने धरने पर बैठे बीजेपी कार्यकर्ता निमता पुलिस स्टेशन के सामने धरने पर बैठे बीजेपी कार्यकर्ता

पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) और बीजेपी के बीच जंग तेज होती जा रही है. 30 मई को ममता बनर्जी ने उत्तर 24 परगना जिले में बीजेपी दफ्तर का ताला तुड़वाया था. इसके बाद से ही इस जिले में हालत तनावपूर्ण हैं. रविवार देर रात टीएमसी और बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच फिर झड़प हुई है. इसके अलावा हुगली में भी झड़प की खबर है. विजय यात्रा के दौरान दोनों पार्टियों के कार्यकर्ता भिड़ गए.

दरअसल, रविवार देर शाम बीजेपी के कुछ कार्यकर्ता कल्याणी एक्सप्रेस-वे पर इंतजार कर रहे थे. इस दौरान कथित तौर पर विधान विश्वास के नेतृत्व में टीएमसी कार्यकर्ताओं पहुंचें और बीजेपी कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ाकर पीटने लगे. बीजेपी का आरोप है कि टीएमसी कार्यकर्ताओं ने गोली भी चलाई. इस हमले में बीजेपी के आधा दर्जन कार्यकर्ता घायल बताए जा रहे हैं.

स्थानीय बीजेपी नेता नितई कुमार सील का कहना है कि हमारे कुछ कार्यकर्ता कल्याणी एक्सप्रेसवे के किनारे बैठे थे. बिधान विश्वास के नेतृत्व में अचानक टीएमसी के कुछ कार्यकर्ताओं ने उन पर हथियारों से हमला किया और उन्हें गोली मार दी. यह हमला इसलिए हुआ क्योंकि बीजेपी यहां मजबूत हो गई है और टीएमसी ने यहां अपनी जमीन खो दी है. विभिन्न वार्डों के लोग बीजेपी में शामिल हो रहे हैं.

बीजेपी नेता नितई कुमार सील का आरोप है कि उनका सिंडिकेट राज बंद होने जा रहा है. इससे बौखलाए टीएमसी कार्यकर्ताओं ने हमला किया, जिसमें आधा दर्जन से अधिक बीजेपी कार्यकर्ता घायल हुए हैं. हमने कार्यकर्ताओं को इलाज के लिए भेजा है. तीन घायलों को कमरहाटी क्षेत्र के सागर दत्ता अस्पताल में और बाकी घायलों को उत्तर दमदम नगर पालिका अस्पताल में भर्ती कराया है. इनमें तीन की हालत गंभीर है.

इस घटना के बाद स्थानीय बीजेपी नेता और 100 से अधिक बीजेपी कार्यकर्ता रविवार रात में निमता पुलिस स्टेशन के सामने इकट्ठा हुए हैं. टीएमसी नेता बिधान विश्वास की गिरफ्तारी की मांग करते हुए बीजेपी ने थाने का घेराव किया है. स्थिति को नियंत्रित करने के लिए आरएएफ को तैनात किया गया है.

वहीं, टीएमसी नेता बिधान विश्वास ने अपने खिलाफ लगे सभी आरोपों से इंकार किया है. उन्होंने दावा किया है कि बीजेपी कार्यकर्ताओं के बीच आपस में झड़प हुई है, क्योंकि उन्हें जय श्रीराम बोलने पर पैसे मिल रहे हैं. इस पैसे के बंटवारे के लिए बीजेपी कार्यकर्ता आपस में भिड़ गए. हम उन्हें क्यों मारेंगे. यहां से हमारे प्रत्याशी सौगता रॉय जीते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें