scorecardresearch
 

बारिश और बाढ़ ने बढ़ाई लोगों की मुसीबत, प्रशासनिक दावों की खुली पोल

महज कुछ घंटों की बरसात ने दिल्ली- NCR के प्रशासनिक दावों की पोल खोल कर रख दी. जहां दिल्ली के कई इलाके जलमग्न हो गए तो वहीं गुरुग्राम के सड़कों का भी बुरा हाल है.

बारिश से दिल्ली का बुरा हाल बारिश से दिल्ली का बुरा हाल

मौसम विभाग ने पानी के जिस प्रलय की आशंका जारी की थी, तस्वीरें बताती हैं कि वो आशंका सच साबित हो गई हैं. देश के कई राज्यों के शहर पानी से लबालब भर गए हैं. सड़कों पर जल सैलाब ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है. क्या दिल्ली, क्या राजस्थान, क्या गुजरात, क्या महाराष्ट्र, क्या मध्य प्रदेश और क्या पंजाब, मैदानी इलाकों में आसमान से मुसीबत बरसी है. सड़कों पर उमड़ आए जल सैलाब से समस्याओं का अंबार लग गया है. पानी में बस और गाड़ियां तक फंस जा रही हैं, जिसके चलते यात्रियों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. जीवन अस्त-व्यस्त हो रहा है. पानी की धार में घर बार बहा जा रहा है.

गुरुग्राम में बारिश से सड़कों का बुरा हाल

महज कुछ घंटों की बरसात ने दिल्ली- NCR के प्रशासनिक दावों की पोल खोल कर रख दी. जहां दिल्ली के कई इलाके जलमग्न हो गए तो वहीं गुरुग्राम के सड़कों का भी बुरा हाल है. दो साल पहले गुरुग्राम में लगे महाजाम से लगता है कि सिविल एजेंसियो ने कोई सिख नहीं ली. मॉनसून की पहली बरसात ने ही घंटों का लंबा जाम और जगह-जगह वाटर लॉगिंग स्थिति पैदा कर दी.

गुरुग्राम में ट्रैफिक फ्लो को सुचारू रखने के लिए मुख्य मार्गों को चमका दिया गया है. कई जगहों पर सड़क पर पानी निकालने का काम भी चल रहा है. पर इन सब के बीच सबसे मुख्य समस्या को पूरी तरह अनदेखा किया गया है और वो है नालियों की साफ सफाई और सड़कों की मरम्मत का कार्य. गुरुग्राम के सबसे व्यस्त और पॉश इलाके में से एक सेक्टर 50 इस समय सबसे बुरे हालातों से गुजर रहा है.

सेक्टर 50 में हिल्टन जैसे बड़े होटल हैं, कई मॉल हैं, इसके अलावा सबसे पॉश रिहाइश भी है, पर यहां सड़कों पर भरा पानी महाजाम के समय की गई चूक की तरफ इशारा कर रहा है.  शुक्रवार को महज कुछ घंटों की बरसात के बाद यहां की सड़कें पूरी तरह जलमग्न हैं.

दिल्ली में जलभराव की समस्या

शुक्रवार का दिन दिल्ली वालों के लिए  थोड़ी राहत लेकर आया था तो वहीं 1 घंटे की बारिश ने दिल्ली वालों के लिए नई मुसीबत पैदा कर दी है.  दरअसल दिल्ली के कई इलाको में  हुई बारिश से जो जलभराव हुआ वो अभी भी बरकरार है.  24 घंटे के बाद भी दिल्ली के कई इलाके अभी भी जलमग्न हुए पड़े हैं. पानी सड़कों पर जमा पड़ा है. पूर्वी दिल्ली के गीता कॉलोनी इलाके में हुई महज एक घंटे की बारिश ने यहां रहने वाले लोगों के लिए मुसीबत खड़ी कर दी.

गीता कॉलोनी में रहने वाले विजय गहलोत बताते हैं कि शुक्रवार को जो बारिश हुई उससे पूरे इलाके में पानी भर गया,  जोकि सिविक एजंसियों की लापरवाही के कारण यहां रहने वाले लोगों के लिए मुसीबत बना हुआ है. लोगों का कहना है कि दो दिन पहले निगम द्वारा यहां की नालियों को रिपेयर करने का काम शुरू हुआ था. लेकिन वो काम अधूरा ही पड़ा है जिसके कारण बारिश का पानी पूरे इलाके में जमा हो गया है.

वहीं जब इस मामले को लेकर हमने गीता कॉलोनी इलाके के निगम पार्षद संदीप कपूर से जब बात की तो उन्होंने बताया कि एमसीडी की ओर से अतिक्रमण को हटाने का काम चल रहा है जिसके तहत जिन लोगो ने दुकानों के बाहर बनी नालियों तक अतिक्रमण कर रखा था उसको हटाया गया है और उस काम को निगम कर्मचारियों की ओर से पूरा भी किया जा रहा है. ताकि अगली बारिश में लोगो को परेशानी ना हो.

चंडीगढ़ में प्रशासन के दावों की खुली पोल

हरियाणा, पंजाब,  हिमाचल प्रदेश समेत पूरे उत्तर भारत में जमकर बारिश हो रही है. मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों के लिए हिमाचल में ऑरेंज अलर्ट जारी किया है साथ ही हिमाचल के पहाड़ी इलाकों से लगते पंजाब के कुछ हिस्सों में भी भारी बारिश की चेतावनी दी गई है. चंडीगढ़ में आज हुई बारिश ने शहर के प्रशासन के तमाम दावों की पोल खोल कर रख दी है. चंडीगढ़ की सड़कें कहीं ना कहीं मुंबई की सड़कों को चुनौती देती हुई नजर आ रही थीं.

अमरेली में बह गईं गाय

गुजरात के अमरेली के लीलीया से एक चौंकाने वाली तस्वीर सामने आई है. यहां पानी का बहाव इतना जबरदस्त था कि नावली नदी के बहाव में तीन गाय बहती हुईं नजर आईं. यहां तीन दिन से लगातार बारिश हो रही है. नावली नदी में बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं. यहां आसपास बने घर ओर दुकानों में भी नदी का पानी घुस गया है.

जुनागढ में भी बारिश आफत बन कर बरस रही है. लोगो के घरों में पानी घुस चुका है. जुनागढ में भी पिछले तीन दिन से लगातार बारिश हो रही है.  वहीं मौसम विभाग ने में अगले 48 घंटों के लिए सौराष्ट्र, राजकोट, जुनागढ, अमरेली, सोमनाथ जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें