scorecardresearch
 

मद्रास IIT में 'बीफ फेस्ट' के आयोजक छात्र पर दक्षिणपंथी छात्रों का हमला

सरकार के इस फैसले के खिलाफ दक्षिण भारत के कई इलाकों में विरोध हो रहा है. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सरकार के इस फैसले को खाने की आजादी और राज्यों के अधिकारों में दखल बताया है. वहीं दूसरी तरफ फैसले के विरोध में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सार्वजनिक तौर पर गोवधकर दिया.

X
IIT में पीएचडी स्कॉलर हैं सूरज आर
IIT में पीएचडी स्कॉलर हैं सूरज आर

केंद्र के मवेशियों की खरीद-बिक्री पर रोक के फैसले के विरोध में आईआईटी मद्रास में बीफ फेस्ट का आयोजन करने वाले छात्रों पर हिन्दुवादी संगठन के लोगों ने हमला किया है. हमले में पीएडी स्कॉलर सूरज आर की आंख में गंभीर चोट आई है. बीफ पार्टी से नाराजा कुछ लोगों ने सूरज के साथ बुरी तरह मारपीट की है जिसमें उन्हें गंभीर चोट आई है.

रविवार को आईआईटी मद्रास में करीब 80 छात्रों के समूह ने कैंपस में 'बीफ फेस्ट' का आयोजन किया था. छात्रों का कहना था कि सरकार खाने की आजादी छीन रही है. उन्होंने मंडी में पशुओं की खरीद-बिक्री की रोक वाली अधिसूचना को बीफ पर बैन करने की दिशा में उठाया गया कदम बताया है. फिलहाल सूरज की पिटाई के मामले में कोई शिकायत नहीं दर्ज कराई गई है.

केंद्र सरकार ने बीफ फेस्ट को आयोजन पर कड़ी प्रतिक्रिया दी थी. केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा था ऐसे आयोजन से सौहार्द को बिगाड़ने और लोगों को भड़काने की कोशिश की जा रही है. राज्य सरकार को इसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए. सरकार के इस फैसले के खिलाफ दक्षिण भारत के कई इलाकों में विरोध हो रहा है. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सरकार के इस फैसले को खाने की आजादी और राज्यों के अधिकारों में दखल बताया है. वहीं दूसरी तरफ फैसले के विरोध में यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने सार्वजनिक तौर पर गोवंश का वध कर दिया.

दिल्ली में भी बीजेपी युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने केरल में गो वंश की हत्या के विरोध में कांग्रेस मुख्यालय के बाहर प्रदर्शन किया. बीजेपी से जुड़े लोगों के कहना है कि कांग्रेस ने हिन्दुओं की भावनाओं के आहत किया है. यूथ बीजेपी के कार्यकर्ताओं मे कांग्रेस दफ्तर के बाहर पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी और राहुल गांधी का पुतला भी फूंका.

क्या है मामला
पर्यावरण मंत्रालय ने द प्रीवेंशन ऑफ क्रुएलिटी टु एनिमल्स (रेगुलेशन ऑफ लाइवस्टॉक मार्केट्स) नियम 2017 को नोटिफाई कर दिया है. इस नोटिफ़िकेशन का मक़सद मवेशी बाजार में जानवरों की खरीद-बिक्री को रेगुलेट करने के साथ मवेशियों के खिलाफ क्रूरता रोकना है. इस नोटिफ़िकेशन के बाद नियमों के मुताबिक मवेशी को बाजार में खरीदने या बेचने लाने वाले को ये सुनिश्चित करना होगा कि मवेशी को बाजार में कत्ल के मकसद से खरीदने या बेचने के लिए नहीं लाया गया है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें