scorecardresearch
 

माल्या ने दिए संकेत, बैंकों का कर्ज लौटाने कर सकते हैं 'घरवापसी'

अब तक जल्द भारत लौटने की संभावना तक से इनकार कर रहे शराब कारोबारी विजय माल्या ने आखिरकार घरवापसी के संकेत दिए हैं. बीते शुक्रवार को यूनाइटेड ब्रेवअरीज लिमिटेड यानी यूबीएल की मुंबई में हुई बोर्ड मीटिंग में माल्या ने कहा कि वो बैंकों से उनके कर्ज की अदायगी को लेकर लगातार बात कर रहे हैं.

माल्या के हवाले यूबीएल का दावा-जल्द करेंगे वापसी माल्या के हवाले यूबीएल का दावा-जल्द करेंगे वापसी

अब तक भारत लौटने की संभावना तक से इनकार कर रहे शराब कारोबारी विजय माल्या ने आखिरकार घरवापसी के संकेत दिए हैं. बीते शुक्रवार को यूनाइटेड ब्रेवअरीज लिमिटेड यानी यूबीएल की मुंबई में हुई बोर्ड मीटिंग में माल्या ने कहा कि वो बैंकों से उनके कर्ज की अदायगी को लेकर लगातार बात कर रहे हैं. साथ ही वह कर्ज की अदायगी की कोशिश कर रहे हैं.

वीडियो कांफ्रेंसिंग से मीटिंग से जुड़े माल्या
उन्होंने बोर्ड को बताया कि अगर बैकों से उनकी बातचीत में कोई हल निकल जाता है तो वो भारत वापस आने को भी तैयार हैं. माल्या अब भी यूनाइटेड ब्रेवरीज लिमिटेड यानी यूबीएल के चेयरमैन हैं और वो कंपनी की शुक्रवार को हुई बोर्ड मीटिंग में लंदन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए जुड़े थे.

इस मीटिंग में माल्या के अलावा बोर्ड मेंबर्स में से कंपनी में इंडिपेंडेंट डायरेक्टर और ब्रिटानिया के पूर्व एमडी सुनील अलग और बायोकॉन की चेयरपर्सन और मैनेजिंग डायरेक्टर किरण मजूमदार शॉ भी मौजूद थी. किरण भी कंपनी में इंडिपेंडेंट डायरेक्टर हैं.

सुनील अलग का दावा- कर्ज चुकाएंगे माल्या
'आज तक' से बातचीत में सुनील अलग ने बताया कि विजय माल्या ने कंपनी की बोर्ड मीटिंग में साफ-साफ कहा कि वो इस बैंकों के उनपर बाकी करीब 9 हजार करोड़ रुपए के बकाया कर्ज के मसले को सुलझाने की पूरी कोशिश कर रहे हैं. अलग के मुताबिक माल्या ने बताया कि वो बैंकों से बात कर रहे हैं ताकि उनका बकाया पैसा चुका सकें. माल्या ने कहा कि बातचीत सफल रही तो वह वापस आ जायेंगे.

अगली बोर्ड मीटिंग में मिलेगी ज्यादा जानकारी
सुनील अलग ने बताया कि यूबीएल के बोर्ड ने माल्या से कहा जब उनकी बैंकों से बातचीत सफल हो जाये तो वह बोर्ड को इसकी जानकारी दें. अलग ने बताया कि इस मामले पर प्रगति की जानकारी अगली बोर्ड मीटिंग में मिलेगी. यूबीएल के माल्या को समर्थन के बारे में अलग ने कहा है कि बोर्ड फिलहाल माल्या के साथ है. बैंकों के साथ कर्ज का मसला बातचीत से सुलझ जाएगा.

बैंक और माल्या की बातचीत से निकलेगा रास्ता
अलग को उम्मीद है कि माल्या जल्द भारत वापस आ जाएंगे, लेकिन कितने पैसे के लेन-देन के बाद ऐसा होगा इसका फैसला तो सिर्फ बैंक और विजय माल्या ही कर सकते हैं. अलग ने कहा कि माल्या को इस मामले को सुलझाने का मौका दिया जाना चाहिए.

माल्या विवाद का यूबीएल पर असर नहीं
दूसरी ओर यूबीएल के कारोबार के बारे में अलग ने कहा कि कंपनी अच्छी चल रही है और उसके ब्रांड भी अच्छा कर रहे हैं. इस विवाद का यूबीएल पर कोई असर नहीं पड़ा है. बहरहाल, इस मामले पर जहां माल्या के ब्रिटेन से प्रत्यर्पण की कोशिशों तक बात जा पहुंची थी. उसमें माल्या का वापिस आने की इच्छा जताना जाहिर तौर पर एक अच्छा संकेत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें