scorecardresearch
 

14 दिन से रेलवे अधिकारियों को नहीं मिल रही गोरखपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर ट्रेन

ट्रेन से यात्रियों का सामान तो अक्सर गायब हो जाता है लेकिन शायद यह पहली बार हो रहा है,जब एक पूरी ट्रेन ही गायब हो गई है. बीते 14 दिन से गोरखपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर ट्रेन पूर्वोत्तर रेलवे के अधिकारियों को नहीं मिल रही है.

X
symbolic image symbolic image

ट्रेन से यात्रियों का सामान तो अक्सर गायब हो जाता है लेकिन शायद यह पहली बार हो रहा है, जब एक पूरी ट्रेन ही गायब हो गई है. बीते 14 दिन से गोरखपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर ट्रेन पूर्वोत्तर रेलवे के अधिकारियों को नहीं मिल रही है.

जानकारी के मुताबिक गोरखपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर ट्रेन को आखिरी बार हाजीपुर स्टेशन पर देखा गया था. इसके बाद से ही इस ट्रेन की कोई जानकारी नहीं मिल सकी है. सूत्रों के मुताबिक 25 अगस्त की रात घुघली स्टेशन के पास मालगाड़ी के 9 डिब्बे पलटने से कई ट्रेनों के रूट बदल दिए गए थे.

रूट बदलने की वजह से उस रूट पर जाने वाली ट्रेनों को देवरिया, बनारस और छपरा रूट से चलाया गया. गोरखपुर-मुजफ्फरपुर पैसेंजर ट्रेन को भी इसी रूट से भेजा गया. लेकिन इंटरलॉकिंग की वजह से ट्रेन को हाजीपुर में ही रद्द कर दिया गया. हाजीपुर में ट्रेन की बोगियां खड़ी कर दी गईं.

रूट के सामान्य होने पर ट्रेन को जब चलाने का फैसला किया तब अधिकारियों को पता चला कि ट्रेन हाजीपुर में मौजूद ही नहीं है. फिलहाल अधिकारी ट्रेन की तलाश कर रहे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें