scorecardresearch
 

शरद यादव बोले- योगी घंटा बजाएं, राम मंदिर में मेरी कोई आस्था नहीं

शरद यादव ने कहा कि उन्हें राम मंदिर में कोई आस्था नहीं और वह सिर्फ जिंदा इंसान की पूजा करते हैं. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ का काम घंटा बजाना है, वो घंटा बजाएं.

X
शरद यादव
शरद यादव

जनता दल यूनाइटेड के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष शरद यादव ने एक बार फिर अपने बयान से सबको हैरान कर दिया है. यूपी के बाराबंकी में शरद यादव ने राम मंदिर मुद्दे पर बड़ा बयान दिया है.

शरद यादव ने कहा कि उन्हें राम मंदिर में कोई आस्था नहीं और वह सिर्फ जिंदा इंसान की पूजा करते हैं. उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ का काम घंटा बजाना है, वो घंटा बजाएं.

अपनी इस विचार के लिए शरद यादव ने संविधान का सहारा लिया. उन्होंने कहा, 'जब संविधान में नहीं लिखा है तो मैं क्यों पूजा करू. संविधान में पूजा करने को कहीं नहीं लिखा है. संविधान में इन बातों का कोई मतलब नहीं है.'

शरद यादव ने पत्रकारों से आगे बात करते हुए कहा कि महागठबंधन में नेतृत्व सामूहिक होगा. बाद में तय करेंगे कि पीएम कौन होगा. शरद यादव ने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि ये अद्भुत और अलबेली सरकार है. नोटबंदी और GST ने देश को 20 साल पीछे कर दिया है. बैंकों को तबाह और बर्बाद कर दिया गया. शरद यादव ने केंद्र सरकार पर कश्मीर की बर्बादी का आरोप लगाया है.

बता दें कि द्वारा कि शरद यादव भारत की एक राजनीतिक पार्टी जनता दल (यूनाइटेड) के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष थे. वर्तमान में वे राज्य सभा से सांसद सदस्य हैं.

शरद यादव के राम मंदिर बयान ने राजनीतिक गलियारों में हलचल मचा दी है. उन्होंने कहा, 'मंदिर से हमारा कोई वास्ता नहीं है. हम जिंदा आदमी को पूजते है, हमारा मंदिर से कोई वास्ता नहीं रहता है और ना ही इसका संविधान से वास्ता है. राम की जन्मभूमि है, आपकी होगी आस्था, हमारी नहीं है. इसमें क्या हर्ज है. आप भी ज़िंदा, हम भी ज़िंदा हैं. योगी, घंटा बजाएं. घंटा बजाना इनका काम है. संविधान में इन बातों का कोई मतलब नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें