scorecardresearch
 

उन्नाव रेप पीड़िता को लाया गया दिल्ली, सफदरजंग में होगा इलाज

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को दिल्ली के सफदरजंग हॉस्पिटल में शिफ्ट किया जा रहा है. डॉक्टरों की रिपोर्ट के बाद इलाज के लिए पीड़िता को एयरलिफ्ट कराकर दिल्ली लाया गया है.

एंबुलेंस में पीड़िता को ले जाते चिकित्साकर्मी (Courtesy- ANI) एंबुलेंस में पीड़िता को ले जाते चिकित्साकर्मी (Courtesy- ANI)

  • सफदरजंग पहुंचाने के लिए बनाया गया ग्रीन कॉरिडोर
  • सीएम योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव मामले पर मांगी रिपोर्ट
  • कांग्रेस-समाजवादी पार्टी ने योगी सरकार पर बोला हमला

उन्नाव गैंगरेप पीड़िता को लखनऊ के सिविल हॉस्पिटल से दिल्ली के सफदरजंग में शिफ्ट किया जा रहा है. डॉक्टरों की रिपोर्ट के बाद पीड़िता को एयरलिफ्ट करके दिल्ली लाया गया है. पीड़िता को दिल्ली पहुंचाने के लिए 2 सीओ और अस्पताल प्रशासन को लगाया गया था. पीड़िता को बंदरिया बाग और अर्जुनगंज होते हुए शहीद पथ रास्ते से लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचाया गया था.

जब पीड़िता दिल्ली पहुंची, तो उसको एयरपोर्ट से सफदरजंग पहुंचाने के लिए ग्रीन कॉरिडोर बनाया गया. पीड़िता को एयरपोर्ट से पालम टंकी, परेड रो, जीजीआर रो, धौला कुआ और रिंग रोड होते हुए सीधे सफदरजंग पहुंचाया गया. ग्रेटर नोएडा की सीओ तनु उपाध्याय की टीम भी एयरपोर्ट पहुंची और एंबुलेंस के साथ सफदरजंग हॉस्पिटल गई.

हैदराबाद के बाद उत्तर प्रदेश के उन्नाव में इंसानियत को तार-तार करने वाली यह घटना सामने आई है. गैंगरेप पीड़िता को खेत में जिंदा जलाने की कोशिश की गई है. पीड़िता के शरीर का 90 प्रतिशत हिस्सा जल चुका है. अब पीड़िता को लखनऊ से दिल्ली के बड़े अस्पताल में रेफर किया जा रहा है. पीड़िता जलने के बाद एक किलोमीटर तक मदद के लिए भागी थी. उसने खुद ही पुलिस को कॉल भी किया था.

पीड़िता के बयान को अस्पताल में मजिस्ट्रेट के सामने दर्ज कर लिया गया है. साथ ही मामले में पांच आरोपियों को भी गिरफ्तार किया गया है. पीड़िता के साथ मार्च महीने में गैंगरेप किया गया था. पांच आरोपियों में से तीन आरोपी जेल में सजा काट रहे थे, लेकिन जेल से छूटने के बाद आरोपियों ने पीड़िता को जिंदा जलाने की कोशिश की.

पीड़िता ने प्रधान के लड़के और उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कराया था. वहीं, उन्नाव में गैंगरेप पीड़िता को जिंदा जलाने की घटना सामने आने के बाद योगी सरकार भी अलर्ट हो गई है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना पर रिपोर्ट मांगी है.

इस घटना को लेकर समाजवादी पार्टी नेता प्रोफेसर रामगोपाल यादव ने योगी सरकार को जमकर घेरा है. साथ ही उत्तर प्रदेस में राष्ट्रपति शासन लगाने की मांग की है. उन्होंने कहा कि योगी राज में लड़कियां सुरक्षित नहीं हैं. इसके अलावा उन्नाव की घटना को लेकर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने भी योगी सरकार पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हर रोज ऐसी घटनाओं को देखकर गुस्सा आता है. सरकार झूठ फैला रही है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें