scorecardresearch
 

JNU विवाद: कन्हैया की पेशी के दौरान कोर्ट में हंगामा, BJP MLA पर मारपीट का आरोप

पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी के लिए कन्हैया कुमार को लेकर पुलिस पहुंची तो वकीलों ने नारेबाजी शुरू कर दी. कोर्ट रूम के अंदर भी हंगामा शुरू हुआ तो पुलिस बुलानी पड़ी.

देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में गिरफ्तार हुए जेएनयू छात्र संघ अध्यक्ष कन्हैया कुमार की पेशी के दौरान सोमवार को दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट में जमकर हंगामा हुआ. पेशी के दौरान वकीलों और कुछ युवकों ने 'भारत माता की जय' के नारे लगाए. आरोप है कि कोर्ट परिसर में बीजेपी विधायक ओपी शर्मा और कुछ अन्य ने नारेबाजी कर रहे युवकों की पिटाई की है. इस दौरान मीडियाकर्मियों से भी बदसलूकी की गई.

जानकारी के मुताबिक, मामले की सुनवाई के दौरान कोर्ट में मौजूद पत्रकारों से भी दुर्व्यवहार किया गया. प्रदर्शन कर रहे वकीलों ने महिला पत्रकारों के फोन छीन लिए और उन्हें कोर्टरूम के अंदर नहीं जाने दिया. उन्होंने महिला पत्रकारों को धमकी भी दी. पुलिस मारपीट के आरोपी बीजेपी विधायक को मेडिकल टेस्ट के लिए ले गई है. उन पर केस भी दर्ज किया जा सकता है.

बीजेपी विधायक और उनके समर्थकों पर लगा आरोप
बीजेपी विधायक ओपी शर्मा और उनके समर्थकों पर छात्रों और महिला पत्रकारों से बदसलूकी का आरोप लगा है. पटियाला हाउस कोर्ट के बाहर विधायक के समर्थक नारेबाजी कर रहे थे. प्रदर्शनकारियों ने 'आज तक' की रिपोर्टर अनुषा सोना और पूनम शर्मा के भी फोन छीन लिए और उन्हें कोर्ट से बाहर कर दिया.

ओपी शर्मा बोले- मुझे धक्का दिया गया
बीजेपी विधायक ओपी शर्मा ने आरोपों पर सफाई देते हुए कहा, 'मैं कोर्ट से निकल रहा था, तभी हमने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे सुने और इसका विरोध किया. जिस पर लोगों ने मुझे धक्का दिया. इसी प्रतिक्रिया में कुछ लोगों ने उस शख्स के साथ मारपीट की जो नारेबाजी कर रहा था.'

इससे पहले, पटियाला हाउस कोर्ट में पेशी के लिए जब पुलिस कन्हैया कुमार को लेकर पहुंची तो वकीलों ने नारेबाजी शुरू कर दी. कोर्ट रूम के अंदर भी हंगामा शुरू हुआ तो पुलिस बुलानी पड़ी. दिल्ली पुलिस के कई जवान कोर्ट में मौजूद हैं. जेएनयू के टीचर और छात्र भी कोर्ट रूम में जाने की जिद पर अड़े थे, जिस पर पुलिस ने उन्हें रोका.

जेएनयू के छात्रों ने लगाया आरोप
पेशी के दौरान जेएनयू के टीचर और छात्र भी वहां मौजूद थे, जिस पर महिला पुलिस को भी बुलाना पड़ा. उन्होंने आरोप लगाया है कि वकीलों ने उनके साथ बदसलूकी और मारपीट की है.

कन्हैया के खिलाफ हैं मजबूत सबूत
दिल्ली पुलिस के कमिश्नर बीएस बस्सी ने कहा कि कन्हैया के खिलाफ मजबूत सबूत मिले हैं. वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि वह देश विरोधी नारे लगा रहा है और देश के खिलाफ भाषण दे रहा है. उससे पूछताछ और मामले की तहकीकात अभी चल रही है.

जांच कमेटी के सामने पेश नहीं होंगे 8 छात्र
जेएनयू में आतंकी अफजल गुरु के समर्थन में कार्यक्रम आयोजित करने और देश विरोधी नारे लगाने के आरोप में जिन 8 अन्य छात्रों का नाम सामने आया है, छात्र संगठनों ने उन्हें जेएनयू की जांच समिति के सामने उपस्थित न होने के लिए कहा है. इन छात्रों की एकडमिक गतिविधियों पर रोक लगा दी गई है. उन्होंने आरोप लगाया है कि जांच कमेटी स्वतंत्र नहीं है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें