scorecardresearch
 

तेलंगाना में स्वाइन फ्लू से 46 की मौत, देशभर में कई नए मामले सामने आएं

देश भर में स्वाइन फ्लू का कहर जारी है. इस गंभीर बीमारी की वजह से कई मरीजों की मौत हो गई है तो वहीं कई मरीज अभी भी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं. राजस्थान, तेलंगाना, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में स्वाइन फ्लू के नए मामले सामने आए हैं.

Symbolic Image Symbolic Image

देशभर में स्वाइन फ्लू का कहर जारी है. इस गंभीर बीमारी की वजह से कई मरीजों की मौत हो गई है तो वहीं कई मरीज अभी भी अस्पताल में अपना इलाज करा रहे हैं. राजस्थान, तेलंगाना, पंजाब, दिल्ली, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में स्वाइन फ्लू के नए मामले सामने आए हैं.

तेलंगाना में इस साल करीब 46 रोगियों की स्वाइन फ्लू से मौत हो गई और राज्य में एच1एन1 वायरस के 1,068 मामले दर्ज किए गए हैं. राज्य सरकार द्वारा स्वाइन फ्लू पर जारी एक बुलेटिन में बताया गया है कि रविवार को 80 नमूनों की जांच की गई और 25 में वायरस की पुष्टि हुई. हालांकि तेलंगाना में पिछले छह दिनों में इस रोग के प्रसार में कमी आई है.

पंजाब में एक की मौत
पंजाब के जालंधर में सोमवार को स्वाइन फ्लू के एक और संदिग्ध की स्थानीय सदर अस्पताल में मौत हो गई. इसके साथ ही जिले में स्वाइन फ्लू से मरने वाले लोगों की संख्या बढ़ कर 10 हो गई है.

लखनऊ में स्वाइन फ्लू के मरीजों की संख्या 78 हुई
उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में 9 नए मरीजों की पुष्टि के साथ ही यहां स्वाइन फ्लू से संक्रमित लोगों की संख्या बढकर 78 हो गई है. मुख्य चिकित्सा अधिकारी एसएनएस यादव ने सोमवार को बताया कि रविवार से अब तक नौ नए मरीज सामने आए हैं, जिन्हें अलग अलग अस्पतालों में दाखिल कराया गया है.

लखनऊ में स्वाइन फ्लू से अब तक तीन लोगों की मौत हो चुकी है. इनमें मर्चेण्ट नेवी में काम करने वाले स्वतंत्र सक्सेना भी शामिल हैं. संक्रमण से 13 जनवरी को निधन हो गया था. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों को गम्भीरता से लेते हुए स्वाइन फ्लू से ग्रसित मरीजों का मुफ्त इलाज करने की तत्काल व्यवस्था करने का निर्देश दिए हैं और कहा कि स्वाइन फ्लू के इलाज में लापरवाही बरतने वाले चिकित्सकों और कर्मचारियों को बख्शा नहीं जाएगा.

अखिलेश ने लोगों को इस रोग के बारे में जागरूक करने के साथ ही इसकी रोकथाम के लिए सरकार की ओर से उठाए गए कदमों की जानकारी देने का निर्देश भी दिया.

भाषा से इनपुट

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें