scorecardresearch
 

भूषण की याचिका पर विचार के लिए तैयार SC, सीबीआई अफसरों की SIT जांच की मांग

प्रशांत भूषण की ओर से दायर जनहित याचिका में मांग की गई है कि कोर्ट की निगरानी में राफेल डील में कथित गड़बड़ी की जांच की जाए. साथ ही कोर्ट SIT बनाकर राकेश अस्थाना सहित अन्य आरोपी अधिकारियों के खिलाफ जांच कराए. 

सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो) सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो)

सुप्रीम कोर्ट वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण, पूर्व वित्त मंत्री यशवंत सिन्हा और पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण शौरी की ओर से दायर की गई याचिका पर सुनवाई के लिए राजी हो गया है. बुधवार को भूषण की ओर से दायर जनहित याचिका में मांग की गई थी कि कोर्ट की निगरानी में राफेल डील में कथित गड़बड़ी की जांच की जाए.

प्रशांत भूषण ने बताया कि यह मामला चीफ जस्टिस की कोर्ट में है. साथ ही इसमें मांग की गई है कि कोर्ट SIT बनाकर राकेश अस्थाना सहित अन्य आरोपी अधिकारियों के खिलाफ जांच कराए और जांच का नतीजा आने तक अस्थाना और अन्य आरोपियों को पद से हटाया जाए.

कोर्ट में दायर याचिका में यह भी मांग की गई है कि मामले की जांच कर रहे सीबीआई के अधिकारियों का ट्रांसफर न किया जाए. आलोक वर्मा को छुट्टी पर भेजे जाने के बाद बदले हुए हालात में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर दावा किया गया है कि उनकी शिकायत पर FIR नहीं हुई, क्योंकि सीबीआई पर काफी दबाव था, जिस वजह से एजेंसी अपने दायित्व का निर्वहन निष्पक्षता से नहीं कर पाई.  

याचिका में की गई मांग

- राफेल डील मामले में FIR दर्ज हो.

- कोर्ट की निगरानी में अस्थाना समेत अफसरों के खिलाफ SIT जांच हो.

- केंद्र को निर्देश दिए जाए कि वो जांच में शामिल सीबीआई अधिकारियों का ट्रांसफर न करे.

सीबीआई के निदेशक आलोक वर्मा को हटाए जाने के बाद वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट में लिखा था कि अस्थाना को जांच से बचाने के अलावा सीबीआई निदेशक द्वारा राफेल डील शौरी, सिन्हा और मेरी शिकायत पर विचार करना, सरकार की ओर से आधी रात में अफसरों को हटाने की एक वजह जरूर है.

बता दें कि राफेल लड़ाकू विमान सौदे को लेकर सर्वोच्च न्यायालय में एक अन्य याचिका पहले से दाखिल है, जिसपर सुनवाई करते हुए 10 अक्टूबर को कोर्ट ने सरकार से कहा था कि 29 अक्टूबर तक राफेल डील की प्रक्रिया की जानकारी उपलब्ध कराए. इस मामले में अगली सुनवाई 31 अक्टूबर को होनी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें