scorecardresearch
 

सुनंदा पुष्कर केस: फॉरेंसिक सबूतों की पड़ताल के लिए बनी डॉक्टरों की नई टीम

सुनंदा पुष्कर की मौत दो साल पहले हुई थी. लेकिन AIIMS के एक्सपर्ट्स अभी तक इस केस में कुछ खास नहीं कर सके. सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय को दिल्ली पुलिस ने एक चिट्ठी लिखी थी.

सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर सुनंदा पुष्कर और शशि थरूर

सनुंदा पुष्कर की मौत की जांच के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने डॉक्टरों की नई टीम गठित की है. ताकि फॉरेंसिक सबूतों के आधार पर सुनंदा की रहस्यमयी मौत से जुड़े अनसुलझे पहलुओं को सुलझाया जा सके.

सुनंदा पुष्कर की मौत दो साल पहले हुई थी. लेकिन AIIMS के एक्सपर्ट्स अभी तक इस केस में कुछ खास नहीं कर सके. सूत्रों के मुताबिक स्वास्थ्य मंत्रालय को दिल्ली पुलिस ने एक चिट्ठी लिखी थी.

दिल्ली पुलिस ने मंत्रालय के डॉयरेक्टर जनरल ऑफ हेल्थ सर्विसेज को चिट्ठी लिख कर एम्स और यूएस फेडरल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन की एक नई टीम बनाने के लिए कहा था. जो फॉरेंसिक सबूतों का अध्ययन कर सके.

51 वर्षीय बिजनेस वुमेन सुनंदा पुष्कर 2 साल पहले दिल्ली के एक होटल में मृत पाई गईं थीं. सुनंदा पूर्व केंद्रीय मंत्री और यूएन डिप्लोमैट शशि थरूर की पत्नी थी . थरूर के पाकिस्तानी जर्नलिस्ट के साथ एकस्ट्रा-मैरिटल अफेयर होने के खुलासे के कुछ दिन बाद ही सुनंदा की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी.

पुलिस ने इस मामले में हत्या का केस दर्ज किया था. मामले में कांग्रेस नेता शशि थरूर से भी कई बार पूछताछ की जा चुकी है. नई टीम में चंडीगढ़ के डॉक्टर, एक पुडुचेरी और एक दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज के डॉक्टर होंगे. साथ ही टीम में एक सदस्य FBI का होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें