scorecardresearch
 

घर जैसा लगने लगा है अंतरिक्ष: सुनीता विलियम्स

भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्‍स अपने भारत दौरे में है. सुनीता विलियम्स ने सोमवार को कहा कि अंतरिक्ष अब उन्हें घर जैसा लगने लगा है. उन्‍होंने दिल्‍ली के राष्‍ट्रीय विज्ञान केंद्र में विद्यार्थियों से भी मुलाकात की.

भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्‍स अपने भारत दौरे में है. सुनीता विलियम्स ने सोमवार को कहा कि अंतरिक्ष अब उन्हें घर जैसा लगने लगा है. उन्‍होंने दिल्‍ली के राष्‍ट्रीय विज्ञान केंद्र में विद्यार्थियों से भी मुलाकात की.

सुनीता के नाम किसी महिला अंतरिक्ष यात्री द्वारा सबसे अधिक समय तक अंतरिक्ष भ्रमण का विश्व कीर्तिमान है. वह अंतरिक्ष में 50 घंटे 40 मिनट चहलकदमी कर चुकी हैं. दिल्ली के राष्ट्रीय विज्ञान केंद्र में विद्यार्थियों से बातचीत के दौरान सुनीता ने कहा, 'अंतरिक्ष बहुत ही दिलचस्प जगह है. अब तो यह घर जैसा लगने लगा है.'  सुनीता ने यह भी बताया कि इस बार की अंतरिक्ष यात्रा के दौरान वह अपने साथ 'गीता' और समोसा लेकर गई थीं.

सुनीता ने आगे कहा, 'मैं अगले अंतरिक्ष मिशन पर जाने वाले अंतरिक्षयान पर रहना पसंद करूंगी और आगे होने वाले अंतरिक्ष से सम्बंधित प्रयोगों को अपने अनुभव का लाभ प्रदान करना चाहूंगी.' सुनीता अब तक दो अंतरिक्ष अभियानों के तहत अंतरिक्ष में कुल 322 दिन व्यतीत कर चुकी हैं. विद्यार्थियों से अपनी पसंद का कार्य करने की अपील करते हुए सुनीता ने कहा, 'मैंने अंतरिक्ष यात्री बनने की कभी कल्पना भी नहीं की थी और कई बार असफल हुई, लेकिन अंतत: मैं यहां तक पहुंच ही गई. इसलिए विद्यार्थियों को मेरी सलाह है कि वे ऐसा काम करें जिसे वे सचमुच पसंद करते हों और उन्हें उस काम को आनंद उठाते हुए अच्छे से करना चाहिए.'

सुनीता अपने पिता के गृहराज्य, गुजरात, जाने से पहले तीन-चार अप्रैल को मुम्बई में रहेंगी. इसके पहले वह अक्टूबर 2007 में भारत आई थीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें