scorecardresearch
 

शामिल हों, इसका हिस्सा बनें: सुनीता विलियम्स

करोड़ों भारतीय और अंतरिक्ष में रुचि रखने वालों के लिये अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स का यही संदेश है- ‘शामिल हों. इसका हिस्सा बनें.’

सुनीता विलियम्स सुनीता विलियम्स

करोड़ों भारतीय और अंतरिक्ष में रुचि रखने वालों के लिये अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स का यही संदेश है- ‘शामिल हों. इसका हिस्सा बनें.’

उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि भारत के पास प्रतिभा का संसाधन है और भारत आने वाले समय में भी अंतरिक्ष अभियानों का नेतृत्व करता रहेगा.

विलियम्स हाल ही में 127 दिनों तक अंतरिक्ष में रहकर लौटी हैं.

एक साक्षात्कार में सुनीता ने बताया, ‘भारत के पास लोगों और प्रतिभा का संसाधन है. मैं सह कल्पना नहीं कर सकती कि भारत अंतरिक्ष अभियानों में पीछे रह जाये. मैं उम्मीद कर रही हूं कि भारतीय लोग आगे आयेंगे और अंतरिक्ष अभियानों का हिस्सा बनेंगे.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें