scorecardresearch
 

J-K: सेना की बड़ी सफलता, हिज्बुल के टॉप कमांडर समेत 5 आतंकी ढेर

जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी रहे देवेंद्र सिंह के साथ आतंकी नवीद बावू की गिरफ्तारी के फारूक अहमद भट कुलगाम और पुलवामा में हिज्बुल मुजाहिदीन का कमांडर बना था. फारूक अहमद भट A++ कटेगरी का आतंकवादी था. उसकी सुरक्षा बलों को काफी समय से तलाश थी.

सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- PTI) सांकेतिक तस्वीर (Courtesy- PTI)

  • साल 2015 में हिज्बुल मुजाहिदीन में शामिल हुआ था फारूक अहमद भट
  • सुरक्षा बलों ने आतंकियों के पास से 3 AK47 राइफल और पिस्टल बरामद

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में पांच आतंकियों को ढेर करने में बड़ी कामयाबी हासिल की है. इन मारे गए पांच आतंकियों में हिज्बुल मुजाहिदीन का टॉप कमांडर फारूक अहमद भट उर्फ नाली भी शामिल है. फारूक अहमद भट उर्फ नाली जम्मू के कुलगाम का रहने वाला है. वह दो हफ्ते पहले कुलगाम में मुठभेड़ के दौरान सुरक्षा बलों को चकमा देकर भाग गया था.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीएसपी रहे देवेंद्र सिंह के साथ आतंकी नवीद बावू की गिरफ्तारी के फारूक अहमद भट कुलगाम और पुलवामा में हिज्बुल मुजाहिदीन का कमांडर बना था. फारूक अहमद भट A++ कटेगरी का आतंकवादी था. उसकी सुरक्षा बलों को काफी समय से तलाश थी.

बताया जा रहा है कि आतंकी फारूक अहमद भट ने साल 2015 में हिज्बुल मुजाहिदीन को ज्वॉइन किया था. रविवार को जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में पांच आतंकियों के मारे जाने की पुष्टि की है. इन आतंकियों के पास से सुरक्षा बलों को 3 AK47 राइफल और 2 पिस्टल भी बरामद हुई हैं.

यह भी पढ़ें: J-K: राजौरी के कालाकोट में सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़, एक दहशतगर्द ढेर

हिज्बुल कमांडर फारूक अहमद भट के अलावा सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे गए आतंकियों की पहचान सकलैन अहमद वगर और सफैत अमीन नायक के रूप में हुई. इसके अलावा बाकी दो आतंकियों की पहचान नहीं हो पाई है. आतंकी फारूक अहमद भट पिछले साल हुए जम्मू बस ग्रेनेड हमले का मास्टरमाइंड भी था.

इसे भी पढ़ें: पुलवामा में जैश सरगना मसूद अजहर का रिश्तेदार और IED एक्सपर्ट फौजी भाई ढेर

रविवार को सुरक्षा बलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ उस समय शुरू हो गई थी, जब जवान सर्च ऑपरेशन चला रहे थे. बताया जा रहा है कि सुरक्षा बलों ने आतंकवादियों की मौजूदगी के इनपुट मिलने के बाद शोपियां के इलाके को घेर लिया था और तलाशी अभियान शुरू किया था. जब पुलिस, सेना और सीआरपीएफ ने घेराबंदी कर सर्च ऑपरेशन शुरू किया, तो छिपे आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी. इसके बाद सुरक्षाबलों ने जवाबी कार्रवाई की और आतंकियों को ढेर कर दिया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें डाउनलोड करें
ऐप में खोलें×